दूध के बेहतरीन फायदे

दूध का किसी धर्म-विशेष से कोई संबध नहीं। इसराइल से लेकर भारत के असम तक गाय, बकरी, भैंस का दूध पीने का प्रचलन रहा है। प्राचीनकाल में दूध अर्थव्यवस्था को चलाने के लिए एक प्रमुख आधार हुआ करता था। इसीलिए बकरी, गाय और अन्य दूधारू जानवरों के मांस को खाने की इजाजत नहीं थी और आज भी नहीं है। इंटरनेशनल डेयरी जर्नल की रिपोर्ट के मुताबिक यूनिवर्सिटी ऑफ मायने में किए गए एक शोध से यह बात साबित हो चुकी है कि जो लोग रोजाना कम से कम 1 गिलास दूध पीते हैं, उन लोगों की तुलना में हमेशा मानसिक और बौद्धिक तौर पर बेहतर स्थिति में होते हैं, जो दूध का सेवन नहीं करते।
गाय का दूध कई प्रकार के रोगों में लाभदायक सिद्ध हुआ है, तो बकरी का दूध औषधीय गुणों के कारण विशेष गंध वाला होता है और इसमें भी खांसी, रक्त-पित्त, अतिसार, तेज बुखार दूर करने की क्षमता होती है। यदि तेज बुखार है तो बकरी के दूध की खीर बनाकर खाएंगे तो बुखार दूर हो जाएगा। इसी तरह जब प्राचीनकाल में आधुनिक चिकित्सा सुविधाएं नहीं होती थीं तो दूध जैसे पेय पदार्थ ही जीवन की रक्षा करते थे। दूध पीते रहने से कभी हड्डियां कमजोर नहीं होतीं। जिन्होंने बचपन में बहुत दूध पिया है बुढापे में उनकी हड्डियां मजबूत रहती हैं। आयुर्वेद के अनुसार गाय के ताजा दूध को ही उत्तम माना जाता है।

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget