सोनिया बनी रहेंगी अंतरिम अध्यक्ष

Sonia Gandhi
नई दिल्ली
सात घंटे चली कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक के बाद फैसला लिया गया कि सोनिया गांधी अभी कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष बनी रही रहेंगी। अगले छह महीने के अंदर पार्टी का नया प्रमुख चुना जाएगा। वहीं, इसके पहले कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में सोनिया गांधी ने पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश की थी। साथ ही उन्होंने नए पार्टी अध्यक्ष के चुनाव की प्रक्रिया शुरू करने को कहा था। सोनिया ने गुलाम नबी आजाद समेत अन्य नेताओं द्वारा नेतृत्व परिवर्तन को लेकर लिखे गए पत्र का हवाला देते हुए इस्तीफे की पेशकश की थी। उन्होंने पार्टी के महासचिव केसी वेणुगोपाल को इस पत्र का जवाब भेज दिया था। कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक के बाद पार्टी के शीर्ष नेता मनीष तिवारी, शशि थरूर और कपिल सिब्बल गुलाम नबी आजाद के घर उनसे मिलने के लिए पहुंचे। वहीं, सूत्रों के हवाले से बताया कि सीडब्ल्यूसी बैठक में अंबिका सोनी ने कहा कि पार्टी के नेतृत्व में सोनिया गांधी को पत्र लिखने वालों के खिलाफ पार्टी संविधान की कार्रवाई की जा सकती है।
इस पर गुलाम नबी आजाद और आनंद शर्मा ने कहा कि वे चिंताओं को बढ़ाने की सीमा के भीतर थे, फिर भी अगर किसी को लगता है कि यह अनुशासन भंग है तो कार्रवाई की जा सकती है। पार्टी नेतृत्व को लेकर सोनिया गांधी को पत्र लिखने वाले नेताओं ने सीडब्ल्यूसी में कहा कि संगठन की बेहतरी के लिए कुछ चिंताएं थीं, उन लोगों को बताने के लिए पत्र लिखा गया। सोनिया गांधी और राहुल गांधी के नेतृत्व में पूरा विश्वास रखें।इस पर कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि राहुल गांधी ने यह बात कभी नहीं कही कि यह पत्र (कांग्रेस नेताओं का सोनिया गांधी को पत्र) भाजपा के साथ मिलकर लिखा गया। न तो सीडब्ल्यूसी की बैठक में और न ही कहीं बाहर।
वहीं, इसके पहले राहुल गांधी ने पत्र पर नाराजगी जताते हुए कहा था कि जिस वक्त पत्र भेजा गया उस समय सोनिया गांधी अस्पताल में भर्ती थीं। पत्र उस समय लिखा गया था जब राजस्थान में कांग्रेस सरकार संकट का सामना कर रही थी।

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget