ड्रैग फ्लिकिंग सीखना मेरे कैरियर का टर्निंग प्वाइंट : गुरजीत कौर

Gurjit Kaur
नई दिल्ली
भारतीय महिला हॉकी टीम की खिलाड़ी गुरजीत कौर ने कहा कि ड्रैग फ्लिक करने की कला सीखना उनके कैरियर का टर्निंग प्वाइंट रहा क्योंकि इससे उन्हें राष्ट्रीय टीम का प्रतिनिधित्व करते हुए सफलता हासिल करने में मदद मिली। गुरजीत 2018 में एशियाई खेलों में रजत पदक जीतने वाली टीम का हिस्सा थीं। उन्होंने पिछले साल महिला एफआईएच सीरीज फाइनल्स में भारत के विजय अभियान में सर्वाधिक गोल किये थे। गुरजीत ने कहा कि ड्रैग फ्लिक करने की तकनीक की अच्छी तरह से सीख मेरे कैरियर का टर्निंग प्वाइंट रहा। हॉकी टीम में हर किसी की अपनी भूमिका होती है और मुझे खुशी है कि मैंने अपनी टीम के लिए एक अच्छी ड्रैग फ्लिकर बनने के लिए अच्छे प्रयास किए। उन्होंने कहा कि मुझे मेरा कैरियर आगे बढ़ाने के साथ ड्रैग फ्लिक सीखने और उसमें अभ्यस्त बनने में अपनी साथियों और कोचों से काफी मदद मिली।
24 वर्षीय गुरजीत कौर भारतीय टीम के लिए महत्वपूर्ण खिलाड़ी बन गई है। उन्होंने कहा कि जूनियर राष्ट्रीय शिविर से जुड़ने से पहले वह ड्रैग फ्लिकिंग की कला से खास अवगत नहीं थी। गुरजीत ने कहा कि मुझे 2012 में जूनियर राष्ट्रीय शिविर से जुड़ने से पहले ड्रैग फ्लिकिंग का अधिक ज्ञान नहीं था।
Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget