जम्मू-कश्मीर से हटेंगे १२ हजार जवान

Soldiers
नई दिल्ली
गृह मंत्रालय ने कश्मीर घाटी में बीते एक साल से तैनात पैरामिलिट्री की 100 कंपनियों को वापस बुलाने का फैसला किया है।
जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 के अंत से पहले लगाई गई इन सभी कंपनियों को अब हालातों की समीक्षा के बाद वहां से हटाने का फैसला किया गया है। गृह मंत्रालय के इस फैसले को घाटी में विश्वास बहाली के एक बड़े कदम के रूप में देखा जा रहा है। करीब 12000 जवानों को वापस बुलाया जाएगा।
कश्मीर घाटी में अनुच्छेद 370 के अंत से पहले करीब 30 हजार अतिरिक्त सीआरपीएफ जवानों की तैनाती की गई थी। इसके अलावा बीएसएफ, सशस्त्र सीमा बल, केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के जवानों को भी यहां पर बड़ी संख्या में तैनात किया गया था। इन जवानों की तैनाती के साथ ही घाटी में हालातों की समय-समय पर समीक्षा की जा रही थी। हाल ही में अमरनाथ यात्रा के मद्देनजर इन जवानों को सुरक्षा ड्यूटी में भी लगाने का फैसला हुआ था, लेकिन यात्रा के स्थगित होने के बाद इन्हें फिर से आंतरिक सुरक्षा के लिए लगा दिया गया था।
अब केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जम्मू-कश्मीर में तैनात सुरक्षा एजेंसियों के अफसर, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल और खुफिया विभाग के साथ एक हाई लेवल मीटिंग करने के बाद अतिरिक्त सुरक्षाबलों को घाटी से वापस लेने पर स्वीकृति दी। मंत्रालय के आदेश के बाद अब कुल 100 कंपनी अर्धसैनिक बलों को घाटी से वापस बुलाया जाएगा।

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget