जगदीश चौधरी का निधन

प्रधानमंत्री मोदी और सीएम योगी ने दी श्रद्धांजलि

Jagdish Chaudhary
वाराणसी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नामांकन में प्रस्तावक रहे वाराणसी के डोम राजा जगदीश चौधरी (55) का मंगलवार की सुबह निधन हो गया। वह लंबे समय से बीमार चल रहे थे। सिगरा स्थित निजी अस्पताल में उन्होंने अंतिम सांस ली। परिजनों ने बताया कि मंगलवार की सुबह उनकी हालत ज्यादा खराब होने पर आनन-फानन में उन्हें अस्पताल ले जाया गया। थोड़ी देर बाद उन्होंने दम तोड़ दिया। निधन की सूचना मिलते ही त्रिपुरा भैरवी घाट स्थित आवास पर श्रद्धांजलि देने वाले पहुंचने लगे। उनका अंतिम संस्कार मणिकर्णिका घाट पर किया जाएगा। जांघ में घाव के कारण कई महीनों से उनका इलाज चल रहा था। निधन की खबर मिलते ही उनके त्रिपुरा भैरवी घाट स्थित निवास पर लोगों की भीड़ जुट गई।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर डोम राजा जगदीश चौधरी की मौत पर दुख जताया है। उन्होंने ट्वीट किया 'वाराणसी के डोमराजा जगदीश चौधरी जी के निधन से अत्यंत दुख पहुंचा है। वे काशी की संस्कृति में रचे-बसे थे और वहां की सनातन परंपरा के संवाहक रहे। उन्होंने जीवनपर्यंत सामाजिक समरसता के लिए काम किया। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे और परिजनों को इस पीड़ा को सहने की शक्ति दे'।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने काशीवासी डोमराजा जगदीश चौधरी के निधन पर शोक-संवेदना प्रकट की है। उन्होंने ट्वीट किया कि सामाजिक समरसता की भावना के प्रतीक पुरुष, काशीवासी डोमराजा जगदीश चौधरी का निधन अत्यंत दुखद है। जगदीश चौधरी का कैलाशगमन सम्पूर्ण भारतीय समाज की एक बड़ी क्षति है। बाबा विश्वनाथ से प्रार्थना है कि आपको अपने परमधाम में स्थान प्रदान करें। बता दें कि वाराणसी से दूसरी बार नामांकन भरने वाले मोदी के प्रस्तावकों में डोम राजा जगदीश चौधरी भी शामिल थे। तब डोम राजा ने कहा था कि, १पहली बार किसी राजनीतिक दल ने हमें यह पहचान दी है और वह भी खुद प्रधानमंत्री ने। हम बरसों से लानत झेलते आए हैं। हालात पहले से सुधरे जरूर हैं, लेकिन समाज में हमें पहचान नहीं मिली है और प्रधानमंत्री चाहेंगे तो हमारी दशा जरूर बेहतर होगी।

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget