स्वच्छता सर्वेक्षण में महाराष्ट्र की हैट्रिक

एक लाख से कम आबादी वाले तीन शहर टॉप पर

clean Mumbai
मुंबई
स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 में महाराष्ट्र ने एक लाख से कम आबादी वाले शहरों की श्रेणी की में हैट ट्रिक लगाई है। इस श्रेणी में महाराष्ट्र का कराड पहले नंबर पर है। दूसरे नंबर पर सासवड और तीसरे नंबर पर लोनावला सबसे साफ शहर है। पांचवे नंबर पर महाराष्ट्र का पंहाला है। इसके बाद जेजुरी, शिर्डी, मौडा सीटी और महाराष्ट्र के दूसरे शहर हैं। एक लाख से कम आबादी वाले साफ शहरों की लिस्ट में 25 शहर शामिल हैं। इनमें से अधिकतर शहर महाराष्ट्र के ही हैं। इस लिस्ट में कुल 20 पोजिशन में महाराष्ट्र के शहरों का कब्जा है। वहीं तीन जगहों पर छत्तीसगढ़ और एक-एक शहर पंजाब और मध्य प्रदेश के शामिल हैं।

मुंबई की रैंकिग में सुधार
स्वच्छता सर्वे में मुंबई की रैंकिग में सुधार आया है। वर्ष 2019 में मुंबई का स्थान का 49वां नंबर था, इस बार 14 अंक के सुधार के साथ मुंबई की पोजिशन 35वें स्थान पर आ गई है। महाराष्ट्र से नवी मुंबई एकमात्र शहर है, जिसने शीर्ष 10 की सूची में स्थान हासिल किया है। वहीं कल्याण-डोंबिवली को सर्वे में 22 वां स्थान मिला है।

सबसे अधिक पुरस्कार महाराष्ट्र को: शिंदे
देश के स्वच्छता सर्वेक्षण में नवी मुंबई मनपा के टॉप -10 में आने के बाद राज्य के नगरविकास मंत्री एकनाथ शिंदे ने कहा कि स्वच्छता को लेकर महाराष्ट्र को कुल 17 पुरस्कार मिले हैं, जिनमें नागरिक स्वच्छता अभियान में 12 मिले हैं। शिंदे ने कहा कि लगातार तीसरे वर्ष, देश में सर्वाधिक पुरस्कार प्राप्त कर महाराष्ट्र सबसे आगे पहुंच चुका है। इस दौरान नगर विकास मंत्री शिंदे ने राज्य के सभी महापौर, आयुक्तों, शहरी विकास विभाग के प्रमुख सचिवों और इससे संबंबधित सभी टीमों का विशेष धन्यवाद किया।

तीसरे स्थान पर नवी मुंबई
देश के स्वच्छ सर्वेक्षण के पांचवें संस्करण में इंदौर ओवरऑल एक बार फिर भारत का सबसे स्वच्छ शहर बना है। इस रिपोर्ट में दूसरे स्थान पर गुजरात का सूरत और तीसरे पर महाराष्ट्र का नवी मुंबई है।
Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget