अमेरिका-चीन में तनाव चरम पर

अमेरिका की दो टूक- 'एक इंच भी नहीं छोड़ेंगे'

वॉशिंगटन/पेइचिंग
अमेरिका का चीन के साथ बढ़ते टकराव के बीच सैन्य तनाव पर रुख एकदम साफ है तो चीन भी नरम पड़ने के मूड में नहीं है। अमेरिका के डिफेंस विंग चीफ ने साफ-साफ कहा है कि प्रशांत महासागर में अमेरिका एक इंच भी पीछे नहीं हटेगा। वहीं, चीन भी चुप नहीं बैठा है और उसने कह दिया है कि अमेरिका सैनिकों की जान खतरे में डाल रहा है। दोनों देशों के बीच व्यापार से लेकर मानवाधिकार उल्लंघन और सबसे ज्यादा दक्षिण चीन सागर पर बने तनावपूर्ण हालात के बीच ऐसी बयानबाजी पर दोनों ही एक-दूसरे पर उकसाने का आरोप भी लगा रहे हैं।
वॉशिंगटन ने दक्षिण चीन सागर में निर्माणकार्य और सैन्य कार्रवाई में लगीं चीन की 24 कंपनियों को ब्लैकलिस्ट कर दिया है। हवाई में अमेरिका के रक्षा सचिव मार्क एस्पर ने कहा है कि चीनी कम्युनिस्ट पार्टी आक्रामक सैन्य आधुनिकीकरण प्रोग्राम की मदद से दुनियाभर में ताकत स्थापित करना चाहती है। इसके तहत से पीपल्स लिबरेशन पार्टी दक्षिण और पूर्व चीन सागर में और जहां ही सरकार को जरूरत लग रही है, वहां आक्रामक रवैया अपना रही है।
पहले हफ्ते का अभ्यास खत्म होने का बाद अमेरिकी नौसेना ने कहा है कि अगला हफ्ता और भी धमाकेदार होने वाला है। सेना का कहना है कि ट्रेनिंग ऐसी फोर्स तैयार करती है जो घातक होती है और मुश्किल हालात में खतरनाक जवाब दे सकती है। इससे नई पार्टनरशिप बनती है जिससे शांति की स्थापना में मदद मिलती है और टकराव से बचा जा सकता है।

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget