एसएमबी को बना रही है सक्षम

मुंबई
 भारत में छोटे और मध्यम आकार के व्यवसायों (एसएमबी) ने पिछले कुछ महीनों में अपने परिचालन मॉडल को अनुकूलित करने, उनमें बदलाव लाने तथा अधार देने के लिए कई चुनौतियों को पार किया है। वैश्विक संकट से पहले भारत में 28 फिसदी से अधिक एसएमबी वर्कर्स मोबाइल थे लेकिन 14 प्रतिशत से भी कम एसएमबी के पास मोबिलिटी की रणनीति थी। इसके अलावा, भारत में 40 प्रतिशत से अधिक एसएमबी अभी भी ऐसे पीसी (पर्सनल कंप्यूटर) का उपयोग करते हैं जो चार या उससे अधिक वर्ष पुराने हैं, जिसकी वजह से उन्हें मरम्मत की आवश्यकता कम से कम 3.8 गुना अधिक होती है। संकट के कारण, जब दुनिया भर के लोग और संगठन सब कुछ रीमोट से संचालित करने के लिए आगे बढ़ रहे थे, तब एसएमबी को एक अलग तरह की अनूठी चुनौतियों का सामना करना पड़ा। माइक्रोसॉफ्ट रीमोटली कार्य करने के दौरान एसएमबी की वर्तमान चुनौतियों, कनेक्टेड रहने, उत्पादकता और सुरक्षा की आवश्यकता को समझती है। देश में एसएमबी में सुधार लाने और उन्हें पुन: आकार देने में सक्षम बनाने की अपनी प्रतिबद्धता को रेखांकित करते हुए, माइक्रोसॉफ्ट आधुनिक पीसी और माइक्रोसॉफ्ट सॉल्यूशंस के साथ अनुकूलित तथा फ्यूचर-प्रूफ बिज़नेस बनाने में मदद कर रही है। भविष्य की तैयारी के अपने सफर में, व्यवसाय तीन क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करने की संभावना तलाशते हैं। 

Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget