आवाज के जरिए कोरोना की टेस्टिंग

Aditya Thackeray
मुंबई
कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ने के लिए गोरेगांव के नेस्को जंबो सुविधा केंद्र में वॉयस बायोमार्कर्स उपलब्ध करने के लिए प्रयोगात्मक आधार पर वोकलिस हेल्थ केयर उपक्रम शुरु किया गया है। यह तकनीक किसी व्यक्ति या संदिग्ध रोगी की आवाज से कोरोना का परीक्षण करना संभव बनाती है।
मुंबई उपनगर के पालक मंत्री आदित्य ठाकरे, मुंबई शहर के पालक मंत्री असलम शेख, महापौर किशोरी पेंडणेकर ने इस उपक्रम की शुरूआत की।
इस पायलट प्रोजेक्ट को महानगरपालिका के अधिकारियों सहित अन्य गणमान्य लोगों की
उपस्थिति में ऑनलाइन शुरू किया गया। पालक मंत्री आदित्य ठाकरे ने कहा कि कल्पना और आधुनिक तकनीक की वजह से मुंबई में कोरोना के खिलाफ जंग अधिक मजबूत करने तथा शहर में कोविड-19 रोगियों के त्वरित उपचार और रिकवरी बढ़ाने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि कृत्रिम बुद्धिमत्ता पर आधारित इस तकनीक के आधार पर कोरोना का जल्द निदान संभव होगा। साथ ही निदान के लिए आरटी-पीसीआर परीक्षण जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि स्वास्थ क्षेत्र में विभिन्न अत्याधुनिक तकनीकों का इस्तेमाल किया जाएगा।
Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget