मध्यप्रदेश में आसमानी आफत

नौ जिलों में हालात बिगड़े

भोपाल
बाढ़ से प्रभावित प्रदेश के कई इलाकों में राहत और बचाव कार्य जारी है। बुदनी के सोमलवाड़ा में हेलीकॉप्टर से लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हाई लेवल मीटिंग बुलाई है। लगातार हो रही बारिश ने मध्यप्रदेश की सूरत बिगाड़ दी है। सबसे ज्यादा हालात होशंगाबाद में बिगड़े। यहां 33 घंटे में 17 इंच बारिश हो गई। नर्मदा खतरे के निशान से 13 फीट ऊपर बह रही हैं। नर्मदा का जलस्तर शनिवार रात 10 बजे तक 983 फीट पर पहुंच गया। यह खतरे के निशान से 19 फीट ऊपर है। होशंगाबाद में 20 से ज्यादा बस्तियां 5 फीट पानी में डूब चुकी हैं। इसके अलावा 52 जिलों के में शनिवार को एक साथ बारिश हुई। प्रदेश में अब तक एक दिन की सामान्य बारिश 0.42 इंच से 397ज् ज्यादा पानी बरस चुका है।
सेना का रेस्क्यू 10 गांव में जारी है। करीब 15 घंटे से ग्रामीणों को सुरक्षित स्थानों पर छोड़ा जा रहा है। मौसम केंद्र द्वारा भोपाल, उज्जैन, होशंगाबाद, रायसेन, नरसिंहपुर, सिवनी, बालाघाट, दमोह, सागर, बुरहानपुर, खंडवा, बड़वानी, धार, इंदौर, रतलाम, देवास, नीमच एवं मंदसौर में ऑरेंज अलर्ट और सीहोर, विदिशा, ङ्क्षछदवाड़ा, राजगढ़, शाजापुर, आगर जिले के लिए रेड अलर्ट जारी किया गया है। इस बीच, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बाढ़ के हालात पर चर्चा के लिए हाई लेवल मीटिंग बुलाई है।

Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget