ईडी का सहयोग नहीं कर रही है मुंबई पुलिस

सुशांत सिंह राजपूत केस

मुंबई
पुलिस पर सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के केस की जांच में ढिलाई बरतने के आरोप शुरू से ही लग रहे हैं। इसके बाद मुंबई पुलिस ने इस केस की जांच में पटना पुलिस का भी बिल्कुल सहयोग नहीं किया था। अब खबर है कि सुशांत के केस की जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को भी मुंबई पुलिस सहयोग नहीं कर रही है। ईडी को अपनी जांच में जो सबूत या डॉक्यूमेंट्स चाहिए, वह मुंबई पुलिस उपलब्ध नहीं करा रही है।
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ईडी के डायरेक्टर ने मुंबई पुलिस को चार बार लेटर लिखकर कहा कि उन्हें अपनी जांच में सुशांत के फोन की जरूरत है। बावजूद इसके मुंबई पुलिस ने सुशांत का फोन ईडी को नहीं सौंपा है। ईडी अपनी जांच में पहले ही रिया चक्रवर्ती और उनके परिवार के फोन और लैपटॉप जब्त कर चुका है। माना जाता है कि सुशांत के फोन से ईडी को कुछ अहम फाइनेंशल जानकारियां मिल सकती है। बता दें कि ईडी सुशांत के केस में वित्तीय अनियमितताओं और मनी लॉड्रिंग के एंगल से जांच कर रहा है।
ईडी पिछले 9 दिनों से लगातार सुशांत का फोन मांग रही है, लेकिन मुंबई पुलिस की तरफ से कोई जवाब नहीं आया है। मुंबई पुलिस का कहना है कि उसे अपनी जांच में उस फोन की जरूरत है, इसलिए वह इसे ईडी को नहीं दे सकती। ईडी के अधिकारियों को शक है कि फोन उनके पास आने से पहले उसका डेटा डिलीट किया जा सकता है। बता दें कि रिया और उनके परिवार के अलावा ईडी ने श्रुति मोदी, सिद्धार्थ पिठानी और जयंती शाह के फोन से भी डेटा लिया है।

नौकर और सुरक्षाकर्मी से पूछताछ
ईडी ने सुशांत के दो नौकर और घर के एक सुरक्षाकर्मी को पूछताछ के लिए बुलाया है। सुशांत की आत्महत्या को दो महीने बीत गए हैं, पर सुशांत ने ऐसा कठोर कदम क्यों उठाया, इसका खुलासा अभी तक नहीं हो सका है। सुशांत ने जिस समय आत्महत्या की उस समय सुशांत के मित्र सिद्धार्थ, दो नौकर और इमारत के बाहर सुरक्षा रक्षक भी उपस्थित था। इसी के चलते ईडी ने सिद्धार्थ से पूछताछ किया है।
Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget