गणेश विसर्जन के लिए बीएमसी की तैयारी पूरी

Ganapati Visarjan
मुंबई
मुंबई महानगरपालिका ने सबसे बड़े धार्मिक त्योहार गणेशोत्सव के आखिरी दिन मंगलवार को गणपति विसर्जन की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है। बीएमसी ने 445 विसर्जन  स्थलों की देखरेख के लिए 23 हजार कर्मचारियों को तैनात किया है। कोरोना संकट को देखते हुए विसर्जन के दौरान किसी तरह की कोई गड़बड़ी न हो, इसका विशेष ख्याल रखा जा  रहा है। बीएमसी की तरफ से 168 कृत्रिम विसर्जन तालाब बनाए गए हैं। इसके अलावा 170 मूर्ति संकलन केंद्र, 37 मोबाइल विसर्जन स्थल और 70 प्राकृतिक विसर्जन स्थलों को  मिलाकर कुल 455 विसर्जन स्थल हैं।
मनपा की ओर से विसर्जन स्थलों पर विभिन्न सुविधाएं उपलब्ध कराई गई है। इसके तहत 890 स्टील प्लेट, 78 नियंत्रण कक्ष, 636 लाइफ गार्ड, 65 मोटर बोट, 69 प्रथम उपचार केंद्र,  65 एंबुलेंस, 81 स्वागत कक्ष, 84 टेंपरेरी शौचालय, 368 निर्माल्य कलश और 467 निर्माल्य वाहन /डंपर/ टेम्पो (आवश्यकता अनुसार विभिन्न भागों में वाहन की व्यवस्था की गई है।  2717 फ्लड लाईट, 83 सर्च लाईट और 42 निरीक्षण टॉवर और आवश्यकता के अनुसार विद्युत व्यवस्था, सुरक्षा दीवार बनाई गई है। 19503 कर्मचारी और 3969 अधिकारियों को  मिलाकर कुल 23472 अधिकारी और कर्मचारी तैनात रहेंगे। पिछले वर्ष की तुलना में अधिकारी-कर्मचारी व अन्य लोगों की संख्या तीन गुना की गई है।

गणेश विसर्जन को लेकर विभिन्न सुझाव
मनपा की तरफ से गणेश विसर्जन को लेकर भक्तों को विभिन्न सुझाव दिए गए। इसके तहत घरेलू गणपति बैठाने वाले लोग घर में बाल्टी या फिर ड्रम में गणपति का विसर्जन  करें। मुंबई शहर में कुल 70 नैसर्गिक विसर्जन स्थल हैं। इस नैसर्गिक विसर्जन स्थल से एक से दो किमी के अंतर पर गणेश मूर्ति के विसर्जन करने के लिए मनपा के कर्मचारी  उपस्थित रहेंगे। अन्य कोई विसर्जन करने न जाए। नैसर्गिक विसर्जन स्थल पर भीड़ भाड़ न हो, इसके लिए मनपा के 24 विभागों में 168 कृत्रिम तालाब भी तैयार किए गए हैं। इसके  अलावा अन्य कई सुविधाओं को लेकर मनपा ने लोगों को को सुझाव दिया है।
Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget