वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए गांधी सेतु का हुआ उद्घाटन

पटना
उत्तर और दक्षिण बिहार को जोड़ने वाले महात्मा गांधी सेतु के पश्चिमी लेन का शुक्रवार को केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये उद्ïघाटन किया। पटना से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, सुशील मोदी और पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव भी मौजूद रहे। इस लेन के जीर्णीद्धार पर 1400 करोड़ रुपए खर्च हुए और यह तीन साल में बनकर तैयार हुआ है। मानसून के बाद पूर्वी लेने के जीर्णोद्धार का काम शुरू होगा। इसे 18 महीने में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। गांधी सेतु की जर्जर हालत को देखते हुए 2014 में केंद्र और राज्य सरकार के बीच इसे मरम्मत करने पर सहमति बनी। 2017 में इसका निर्माण शुरू हुआ। पहले पश्चिमी लेन को तोड़ा गया और इसका निर्माण किया गया। पिछले साल जून में इसके निर्माण कार्य पूरा करने का लक्ष्य रखा गया था लेकिन बाद में इसे बढ़ाकर दिसंबर तक कर दिया गया। पिछले साल हुई भारी बारिश की वजह से एक बार फिर इसकी समय सीमा बढ़ाकर मार्च 2020 कर दिया गया। लेकिन, कोरोना संक्रमण के चलते काम बंद करना पड़ा था। गांधी सेतु का अभी पश्चिमी लेन दुरुस्त किया गया है। इसके बाद पूर्वी लेन को तोड़कर दुरुस्त करने का काम शुरू होगा। यह 2022 तक पूरा हो जाने की उम्मीद है। दोनों लेन बन जाने के बाद जेपी सेतु और राजेंद्र पुल का भार कम होगा। इससे लोगों को जाम से मुक्ति मिलेगी और समय भी बचेगा। उम्मीद है अगले महीने से पूर्वी लेन को बंद कर तोड़ने का काम शुरू हो जाएगा।
Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget