अडानी समूह खरीदेगा मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट

74 फीसदी हिस्सा खरीदने की तैयारी

Mumbai Airport
मुंबई
अडानी समूह की कंपनी अडानी एंटरप्राइजेज लिमिटेड (एईएल) मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट (एमआईएएल) में 74 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने की तैयारी कर रही है। इस सौदे के साथ अडानी निजी क्षेत्र की भारत की दूसरी सबसे बड़ी एयरपोर्ट ऑपरेटर हो जाएगी।
अडानी समूह को को पहले ही देश में पीपीपी मॉडल के तहत छह एयरपोर्ट का अधिकार मिला है। अडानी समूह मुंबई एयरपोर्ट में जीवीके समूह की 50.5 फीसदी हिस्सेदारी खरीदेगी। इसके अलावा वह इस एयरपोर्ट के अन्य हिस्सेदारों एयरपोर्ट्स कंपनी साउथ अफ्रीका और बिडवेस्ट ग्रुप से भी उनकी क्रमश: 10 फीसदी और 13.5 फीसदी हिस्सेदारी खरीदेगी।
इस तरह इस कंपनी में अडानी सबसे बड़ी शेयरधारक हो जाएगी। गौरतलब है कि देश में निजी क्षेत्र का सबसे बड़ा एयरपोर्ट ऑपरेटर जीएमआर समूह है।
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार अडानी समूह इस हिस्सेदारी के लिए 15,000 करोड़ रुपए का भुगतान कर सकता है। यही नहीं मुंबई में बन रहे दूसरे हवाई अड्डे नवी मुंबई एयरपोर्ट का भी मालिकाना हक अडानी समूह को मिल सकता है, क्योंकि उसमें एमआईएएल की 74 फीसदी हिस्सेदारी है। आत्मनिर्भर अभियान के तहत सरकार ने जयपुर, गुवाहाटी और तिरुवनंतपुरम एयरपोर्ट को सार्वजनिक निजी भागीदारी (पीपीपी) मॉडल के जरिए 50 साल के लिए लीज पर देने का फैसला किया है। अडानी समूह को देश में पीपीपी मॉडल के तहत छह एयरपोर्ट के संचालन, रखरखाव और विकास का अधिकार मिला है। इनमें अहमदाबाद, लखनऊ, मंगलौर, जयपुर, तिरुअनंतपुरम और गुवाहाटी शामिल हैं। इस बीच केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर तिरुवनंतपुरम एयरपोर्ट के निजीकरण पर पुनर्विचार करने का अनुरोध किया है।
Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget