ओटी कांप्लेक्स निर्माण के लिए पावरग्रिड व एसीटीआरईसी के बीच समझौता

मुंबई 
विद्युत मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले केंद्रीय सार्वजनिक उद्यम, पावरग्रिड कार्पोरेशन ऑफ इंडिया लि. (पावरग्रिड) ने भारत सरकार के आणविक ऊर्जा मंत्रालय के अधीन कार्य करने वाले एडवांस सेंटर फार ट्रीटमेंट रिसर्च एंड एजुकेशन इन कैंसर (एसीटीआरईसी) एवं टाटा मेमोरियल सेंटर (टीएमसी) के बीच पावरग्रिड ओटी कांप्लेक्स के निर्माण हेतु एक समझौता (एमओयु) किया गया है। इसके निर्माण से दोनों विभागों को काफी लाभ मिलेगा। 
जानकारी के अनुसार इस समझौते पर पावरग्रिड के कार्मिक निदेशक वी. के. सिंह, एसीटीआरईसी, टीएमसी के निदेशक डॉ. सुदीप गुप्ता, कार्यपालक निदेशक (उत्तरी क्षेत्र-1) एस. डी. के.सिंह, कार्यपालक निदेशक (पश्चिमी क्षेत्र-2) एस. डी. जोशी कार्यपालक निदेशक (सीएसआर तथा ईएसएमडी) एम. के. सिंह ने पावरग्रिड एवं टाटा मेमोरियल सेंटर के वरिष्ठ अधिकारीयों की मौजूदगी में हस्ताक्षर किए. उल्लेखनीय है कि सामाजिक उत्तरदायित्व के तहत पावरग्रिडम, एसीटीआरईसी, टीएमसी नवी मुंबई के महिला एवं बाल कैंसर अस्पताल में मोडूलर ऑपरेशन थियेटर कांप्लेक्स के निर्माण हेतु 26.40 करोड़ रुपये की आर्थिक मदद दे रहा है। पावरग्रिड ऑपरेशन थियेटर (ओटी) कांप्लेक्स रोगियों को संक्रमण से बचाने के लिए उच्च श्रेणी की जीवाणुरहित मानक का निर्धारण करेगा। साथ ही स्वास्थ्य संरक्षण की लागत कम करने में मदद करेगा। यही नहीं सटीक इलाज में सहायक होगा, जिससे अस्पताल अधिक संख्या में रोगियों का उपचार करने में समर्थ होगा। इसी तरह से वर्ष 16-17 में भी पावरग्रिड ने एसीटीआरईसी, टीएमसी के साथ नवी मुंबई के खारघर में बन रहे रेडिएशन रिसर्च यूनिट के निर्माण के लिए 30 करोड़ की आर्थिक मदद करते हुए समझौता किया था। इसका उद्देश्य इंटीग्रेटेड न्यूक्लियर थेरेपी की जरूरत वाले मरीजों को बेहतर एंब्यूलेटरी और इन पेशेंट चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराना था। ग्राउंड प्लस सात मंजिला इस इमारत की परियोजना में कुल 80 करोड़ की लागत आने वाली है। जिसका वित्त पोषण 50-50 प्रतिशत के अनुपात में आणविक ऊर्जा विभाग (डीएई) भारत सरकार पावरग्रिड द्वारा किया जा रहा है। 

Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget