13 गन्ना मिलों को नोटिस

 गोरखपुर
 गोरखपुर-देवरिया परिक्षेत्र की 13 चीनी मिलों को 472 करोड़ से अधिक के बकाया गन्ना मूल्य भुगतान के लिए उप गन्ना आयुक्त ऊषा पाल ने नोटिस दिया है। उन्होंने स्पष्ट निर्देश दिया है कि चीनी की बिक्री से मिलने वाली रकम से सर्वप्रथम गन्ना किसानों के गन्ना मूल्य का भुगतान किया जाएगा। शासन के दबाव इन चीनी मिलों ने अगस्त माह में सिर्फ 66.90 करोड़ एवं सितम्बर माह में सिर्फ 11.84 लाख रुपये का भुगतान किया है। गोरखपुर परिक्षेत्र की 5 चीनी मिलों पर 231.28 करोड़ रुपये का गन्ना मूल्य बकाया है। परिक्षेत्र की बस्ती जिले की रुधौली चीनी मिल पर सर्वाधिक 93.57 करोड़ रुपये का भुगतान बकाया है। इस मिल ने सिर्फ 29.39 फीसदी किसानों का ही गन्ना मूल्य भुगतान किया है। जबकि परिक्षेत्र का औसत गन्ना मूल्य भुगतान 73.45 फीसदी है। दूसरी ओर बस्ती की बभनान चीनी मिल ने सर्वाधिक 8 5.26 फीसदी गन्ना मूल्य का भुगतान किया है। इसी तरह देवरिया परिक्षेत्र की चीनी मिलों पर 240.84 करोड़ रुपये गन्ना मूल्य बकाया है। परिक्षेत्र का औसत भुगतान 81.57 फीसदी है। सर्वाधिक 94.10 फीसदी भुगतान ढाढा बुजुर्ग चीनी मिल ने किया है। दूसरे नम्बर पर 89.17 फीसदी भुगतान कर सेवरही की चीनी मिल खड़ी है। यहां सबसे कम 45.01 फीसदी भुगतान देवरिया की प्रतापपुर चीनी मिल ने किया है। कोविड-19 के संक्रमण के कारण लॉकडाउन के कारण चीनी की मांग एवं बिक्री में काफी गिरावट आई है। ऐसे मे मिलों के समक्ष आर्थिक दिक्कतें हैं। लेकिन शासन के सहयोग से निरंतर किसानों को गन्ना मूल्य भुगतान कराया जा रहा है। 
Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget