3 से 4 चरणों में हो सकते हैं बिहार चुनाव

 पटना 
बिहार विधानसभा चुनाव 2020 की सुगबुगाहट अब तेज हो गई है। चुनाव आयोग की 2 सदस्यों की टीम इस समय बिहार दौरे पर है। चुनाव आयोग की यह टीम बिहार के अलग-अलग हिस्सों में जा कर हालात का जायजा ले रही है। चुनाव आयोग की टीम राज्य के सभी जिलों के डीएम और एसएसपी-एसपी के साथ समीक्षा बैठक कर रही है। वहीं कयास लगाया जा रहा है कि इस बार ३ से ४ चरणों में चुनाव हो सकते हैं, जबकि पहले ७ चरणों में चुनाव होते थे। लेकिन इस बार कोरोना काल के चलते ऐसा देखने को मिल सकता है। इधर, बीते कुछ दिनों से राज्य की राजनीतिक सरगर्मियां भी तेज हो गई हैं। पीएम मोदी बिहार को लेकर ताबड़तोड़ एक के बाद एक योजनाओं का शुभारंभ कर रहे हैं। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, बिहार प्रभारी भूपेंद्र यादव और चुनाव प्रभारी देवेंद्र फड़नवीस ने 3 दिन पहले ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात की है। बताया जा रहा है कि एनडीए में सीटों के बंटवारे को लेकर सहमति बन गई है। इन तमाम घटनाक्रमों से संकेत मिल रहे हैं कि इसी सप्ताह बिहार विधानसभा चुनाव के लिए तारीखों का ऐलान किया जा सकता है। 
बता दें कि मंगलवार को चुनाव आयोग की टीम भागलपुर में 12 जिलों के डीएम और एसपी के साथ समीक्षा बैठक की। भागलपुर, बांका, मुंगेर, लखीसराय, शेखपुरा, जमुई, खगड़िया, बेगूसराय, पूर्णिया, अररिया, किशनगंज और कटिहार जिलों के जिलाधिकारियों और एसपी और एसएसपी के साथ समीक्षा बैठक की। ऐसी उम्मीद है कि इन जिलों में एक ही दिन चुनाव कराए जाएंगे। इसके बाद चुनाव आयोग की टीम बोधगया में समीक्षा बैठक करेगी। बोधगया में 7 जिलों के जिलाधिकारी और पुलिस कप्तानों के साथ चुनाव आयोग की टीम बैठक करेगी। ये जिले हैं गया, जहानाबाद, अरवल, नवादा, औरंगाबाद, कैमूर और रोहतास। इन 7 जिलों में एक ही तारीख को चुनाव कराने की संभावना है। 

Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget