कोरोना: 30 फीसदी लोगों को नहीं पता मास्क और साबुन का महत्व

mask Soap
नई दिल्ली
राज्यसभा में बेहद गरीब तबके को कोरोना महामारी से बचाने के लिए मुफ्त में मास्क उपलब्ध कराने की मांग की गई। शून्य काल में सोमवार को इस मुद्दे को उठाते हुए सीपीआइ (एम) सांसद बिनोय विस्वम ने कहा कि साबुन और मास्क का इस्तेमाल कोरोना वायरस से बचाव का सबसे अच्छा तरीका है, लेकिन अशिक्षा और गरीबी के चलते 30 फीसद लोगों को इस बारे में जानकारी नहीं है। इसलिए, फौरी तौर पर इन्हें सुरक्षित करने की आवश्यकता है। मैला ढोने के मुद्दे को उठाते हुए टीएमसी (एम) के जीके वासन ने कहा कि यह मानव गरिमा के खिलाफ है।
पिछले साल 100 से अधिक लोगों की सीवर की सफाई करते हुए जान चली गई। उन्होंने कड़ा कानून बनाकर इसे पूरी तरह से समाप्त करने की मांग की। उन्होंने कहा कि यह समाज में भेदभाव को बढ़ावा दे रहा है। वासन ने कहा कि मैला ढोने वालों को सुरक्षा उपकरण तक नहीं उपलब्ध कराए गए हैं, जिस कारण नाले से निकलने वाली जहरीली गैसों से उनकी जान जा रही है। वहीं, शिवसेना के अनिल देसाई ने फसलों में कीटनाशक दवाओं के इस्तेमाल का मुद्दा उठाया। कहा कि कीटनाशकों के छिड़काव के कुछ प्रचलित तरीके किसानों की सेहत पर प्रतिकूल प्रभाव डाल रहे हैं।

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget