कड़ी सुरक्षा में आज बाप्पा की विदाइ

Visarjan
मुंबई
कोरोना संकट के बीच मंगलवार को 10 दिन के गणपति बाप्पा की पूजा अर्चना के बाद विदाई होगी। इस साल ढोल ताशे की गूंज तो नहीं होगी, इसके बावजूद बाप्पा की अगले बरस तू जल्दी आ की गूंज के साथ विदाई होगी। बाप्पा की विदाई करते समय सभी भाविकों की आंखे नम हो जाती हैं। गत वर्ष के मुकाबले इस वर्ष सार्वजनिक गणेश प्रतिमाओं को बहुत कम संख्या में पंडालों में स्थापित किया गया था। स्थापना के बावजूद बड़ी संख्या में दूसरे दिन ही विसर्जन भी कर दिया गया था, जिसके पीछे मुख्य कारण था गणेश पंडालों में भीड़ न उमड़े। अब तक डेढ़ दिन, पांच दिन और सात दिन के गणेश और गौरी गणपति का विसर्जन किया गया है। बड़े सार्वजनिक मंडलों की गणेश प्रतिमाओं को 10 बाद ही विसर्जित किया जाता है।

35 हजार पुलिसकर्मी ड्यूटी पर तैनात
मुंबई पुलिस ने गणपति विसर्जन की तैयारियां पूरी कर ली हैं। अनंत चतुर्दशी के दिन विसर्जन में किसी भी प्रकार का विघ्न न हो, इसका पूरा ख्याल पुलिस ने रखा है। यदि कोई बच्चा या व्यक्ति गुमशुदा हो जाता है तो उसे परिवार वालों से मिलाने के लिए एक अलग से शाखा बनाई गई है, जो उनके परिवार को अनाउंसमेंट कर सारी जानकारी देगा।
कोविड 19 को देखते हुए मुंबई में कुछ प्रतिबंध लगाए गए हैं, जिसका पालन करने के लिए नागरिकों से कहा गया है। अनंत चतुर्दशी के दिन सुरक्षा के लिए करीब 35 हजार पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। जिससे गणपति विसर्जन शांति से निपट जाए। पिछले वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष भीड़ में काफी कमी दिखाई देने की संभावना जताई जा रही है। कोविड-19 का डर और सरकार द्वारा लागू किए गए नियम की वजह से यह बदलाव देखा जा सकता है। 35 हजार पुलिस, राज्य सुरक्षा बल, सशस्त्र पुलिस, आरएएफ, बीडीडीएस, होमगार्ड, जल्द नियंत्रण पथक और वाहतूक पुलिस के अलावा कुल करीब पांच हजार सीसीटीवी कैमरों की मदद से विसर्जन स्थल और सड़कों पर ध्यान रखा जाएगा। सभी विसर्जन स्थल पर जल तैराक, तटरक्षक दल, नौ दल की नौका आदि विसर्जन के लिए उपलब्ध किए गए हैं। ट्रैफिक के नियमों का पालन कराने के लिए सड़कों पर ट्रैफिक पुलिस के अधिकारी और कर्मचारी तैनात रहेंगे।
विसर्जन स्थल पर विसर्जन के लिए जाने से पहले नागरिकों को कुछ नियमों का पालन करने के लिए नियमावली तैयार की गई है। जिसके तहत नागरिकों से आव्हान किया गया है कि विसर्जन के लिए आते समय विसर्जन स्थल पर आरती न करते हुए घर से आरती कर निकलें। मनपा द्वारा 167 कृत्रिम तालाब बनाए गए हैं, इसके अलावा सहायक आयुक्त द्वारा मूर्ति संकलन केंद्र भी बनाए गए हैं। जहां पर नागरिक अपनी मूर्ति दे सकते हैं। किसी भी प्रकार की समस्या होने पर 100 नंबर, मोबाइल नंबर 7738133133, 7738144144 और ट्विटर के जरिए पुलिस से संपर्क किया जा सकता है
Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget