डोंगरी में इमारत का हिस्सा गिरने से महिला की मौत

Dongari
मुंबई
बुधवार की सुबह दक्षिण मुंबई के डोंगरी में एक इमारत का हिस्सा गिर गया। इमारत के मलबे में दबने से एक महिला की मौत हो गई, जबकि छह लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया है।
मानसून के दौरान मुंबई में इमारतों के गिरने का सिलसिला थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। डोंगरी में सरदार वल्लभ भाई पटेल रोड पर भारत पेट्रोल पंप के सामने बुधवार की सुबह एक और इमारत गिर गई। यह इमारत भी म्हाडा की सेस इमारत है। रज्जाक चेंबर नामक इस इमारत का एक हिस्सा सुबह लगभग सवा सात बजे गिर गया। इमारत गिरने की जानकारी तत्काल दमकल विभाग को दी गई। दमकल विभाग की पांच गाड़ियों ने घटनास्थल पर पहुंच कर बचाव कार्य शुरू किया।
इमारत में फंसे छह लोगों को सुरक्षित निकालने में दमकल विभाग कामयाब रहा। प्रत्यक्षदर्शियों ने इमारत के मलबे एक महिला के दबे होने की जानकारी दी। लगभग दो घंटे के बाद मलबे में दबी मुमताज सुधनवाला नामक 55 वर्षीय महिला को निकालकर इलाज के लिए जेजे अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इमारत के मलबे को हटाने का काम शाम तक पूरा किया जा सका। इमारत गिरने की जानकारी मिलने के बाद महापौर किशोरी पेंडणेकर, सांसद अरविंद सावंत, म्हाडा के सभापति विनोद घोसालकर घटनास्थल पहुंचे और राहत और बचाव कार्य का जायजा लिया। दक्षिण मुंबई की अनेक इमारतें 100 साल से भी अधिक पुरानी हो चुकीं हैं, इनमें से अधिकांश इमारतें इतनी खतरनाक हैं कि लोग उसमें जान जोखिम में डालकर रह रहे हैं। ऐसी ही इमारतें कब्रिस्तान साबित हो रही हैं। यह सिलसिला हर मानसून में देखने को मिलता है, लेकिन यदि कुछ देखने को नहीं मिलता तो मनपा और पुलिस विभाग में तालमेल। जिसके चलते इमारतें खाली नहीं कराई जा सकती और दुर्घटना जानलेवा बनकर सामने आती हैं।
Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget