लौटाया जाएगा पीएमसी खाता धारकों का पैसा

वाधवान की प्रापर्टी होगी नीलाम

मुंबई
पीएमसी बैंक घोटाले के आरोपी वाधवान परिवार की प्रापर्टी बेचकर सरकार बैंक खाताधारकों का पैसा चुकाएगी। विधानसभा सत्र के दौरान शिवसेना के सदस्य और पूर्व राज्य मंत्री रविंद्र वायकर ने 21 दिसंबर को सदन में औचित्य मुद्दे के माध्यम से यह मुद्दा उठाया था। वायकर को इसका लिखित जबाब देते हुए गृह राज्य मंत्री सतेज पाटिल ने यह जानकारी दी।
पाटिल ने अपने लिखित जवाब में कहा कि पीएमसी बैंक घोटाले के आरोपी एचडीआईएल की प्रापर्टी को बेचकर खाताधारकों का बकाया पैसा दिया जाएगा, जिसकी प्रक्रिया सरकार द्वारा जल्द शुरू करेगी। राज्यमंत्री ने बताया कि एचडीआईएल के मालिक राकेश वाधवान की धारा 102 के तहत पालघर, नायगांव, वसई, विरार सहित कई स्थानों पर प्रापर्टी के साथ 14 वाहनों और 2 निजी प्लेन को सरकार ने जब्त किया है। इसके अलावा अलीबाग और पुणे में बड़ी संख्या में वाधवान परिवार की संपत्ति जब्त की जा चुकी है। बता दें कि वर्ष 2008 और 2010 के बीच पीएमसी बैंक से वाधवान परिवार की कंपनी एचडीआईएल ने 6121.7 करोड़ रुपए कर्ज लिया था, जिसे उन्होंने नहीं चुकाया और बैंक घाटे में चला गया। बड़ी संख्या में बैंक में खाताधारकों का पैसा नहीं मिल पाया। बैंक का कर्ज नहीं देने वाली कंपनी के खिलाफ न्यायालय में जाने के बाद न्यायालय ने एचडीआईएल के मालिकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने और कंपनी की प्रॉपर्टी को नीलाम करने का आदेश दिया था। इस मामले को लेकर आरबीआई के गवर्नर की अध्यक्षता में एक समिति बनाकर बैंक का कर्ज नहीं चुकाने वाले के खिलाफ ईडी ने आर्थिक गुनाह दर्ज किया। पिछले साल दिसंबर महीने में नागपुर में शीतकालीन सत्र के दौरान सदन में शिवसेना सदस्य रविंद्र वायकर ने यह मुद्दा सदन में उपऌिस्थत किया था। जिसके बाद रविवार को राज्य के गृहराज्य मंत्री सतेज पाटिल ने अपने लिखित जबाब में कहा कि बैंक घोटाले के आरोपी वाधवान परिवार की कंपनी एचडीआईएल ग्रुप की प्रापर्टी जब्त करके खाताधारकों का बकाया पैसा देने की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि प्रापर्टी की नीलामी की प्रक्रिया को जल्द शुरू की जाएगी।
Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget