पुलिस पर झूठी एफआईआर दर्ज कराने वाली महिला गिरफ्तार

मुंबई
घाटकोपर पुलिस थाने में दर्ज सामूहिक बलात्कार मामले में शिकायतकर्ता महिला को झूठी एफआईआर दर्ज कराने के मामले में गिरफ्तार किया गया है। जांच में पता चला है कि एक अधिकारी की शह पर महिला ने पुलिस वाले समेत चार लोगों पर सामूहिक बलात्कार का मामला दर्ज करवाया था। फिलहाल पुलिस अधिकारी फरार चल रहा है और महिला को गिरफ्तार कर लिया गया है।
अगस्त महीने में महिला ने शिकायत की थी कि पुलिस कांस्टेबल, एक ऑटोरिक्शा ड्राइवर उसके घर में आए थे। उसके साथ मारपीट की थी, जिससे उसका गर्भपात हो गया था। महिला का आरोप था कि आरोपियों ने उसकी 11 साल की बेटी से बलात्कार किया था। महिला ने मामले में हाईकोर्ट का भी दरवाजा खटखटाया था, जिसके बाद शिशुपाल जगधाने, एस गव्हाणे नाम के दोनों पुलिसकर्मियों और घुरे नाम के ऑटोरिक्शा ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया गया था। डीसीपी प्रशांत कदम ने बताया कि मामले की जांच के लिए एक विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया गया था। छानबीन में पता चला कि महिला ने वारदात का जो दिन और समय बताया था, उस दिन जगधाने एक मामले की जांच के सिलसिले में उत्तर प्रदेश गए थे और वापसी की यात्रा के दौरान गुजरात पहुंचे थे। गव्हाणे घाटकोपर पुलिस स्टेशन में थे, जबकि ऑटोरिक्शा ड्राइवर अपने घर में सो रहा था। यही नहीं शिकायत करने वाली महिला खुद इस दिन राजावाडी अस्पताल में थी। इसके बाद महिला को आपराधिक साजिश रचने के आरोप में एफआईआर दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया। कोर्ट मे पेशी के बाद उसे चार दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है। इस मामले में उसकी मदद करने वाले युसुफ शेख नाम के एक पुलिस उपनिरीक्षक को भी आरोपी बनाया गया है। फिलहाल वह फरार है।
Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget