कश्मीरी युवकों को फौजी बनना है

Army
श्रीनगर
कश्मीर घाटी में स्थानीय युवाओं में फौजी बनने के रुझान को देखते हुए सेना ने उनके लिए विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाने का फैसला किया है। इसमें स्थानीय युवाओं को भर्ती रैली में सफल होने के आवश्यक गुर सिखाए जाएंगे। इच्छुक युवा जो भी सेना में भर्ती होने के पात्र हैं, इनमें शामिल हो सकते हैं। आतंकियों और अलगाववादियों द्वारा बार-बार स्थानीय लोगों को सुरक्षाबलों और फौज से दूर रहने का फरमान सुनाए जाने के बावजूद बीते कुछ सालों के दौरान फौज में भर्ती होने वाले कश्मीरी युवकों की संख्या में लगातार बढ़ोत्तरी हुई है। रक्षा मंत्रालय से मिली जानकारी के अनुसार, कोविड-19 के संक्रमण से पैदा हालात के मद्देनजर कश्मीर घाटी में होने वाली सेना की भर्ती रैलियों को स्थगित करना पड़ा है। अलबत्ता, लॉकडाउन में राहत और कोरोना से पैदा हालात में कुछ सुधार को देखते हुए अगले दो-तीन माह में भर्ती रैलियां शुरू की जा सकती हैं। केंद्रीय गृहमंत्रालय और केंद्र शासित जम्मू-कश्मीर प्रदेश प्रशासन ने इस संदर्भ में रक्षा मंत्रालय से संपर्क करते हुए, जम्मू-कश्मीर में विशेष भर्ती रैलियों के आयोजन का आग्रह किया है। सेना की तरह ही सीआरपीएफ, बीएसएफ व एसएसबी भी केंद्र शासित जम्मू-कश्मीर में अलग-अलग भर्ती रैलियां निकट भविष्य में आयोजित करने की कार्ययोजना पर काम कर रही हैं। वादी में बीते कुछ सालों के दौरान हुई भर्ती रैलियों का संज्ञान लेते हुए सेना ने एक कैप्सूल कोर्स तैयार किया है। यह उन युवाओं के लिए है जो फौजी बनना चाहते हैं।

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget