मराठा युवाओं को गुमराह कर रही सरकार : पाटिल

Chandrakant Patil

मुंबई

गुरुवार को राज्य सरकार पर निशाना साधते हुए भाजपा प्रदेशाध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि पिछले कुछ महीनों से पुलिस विभाग में भर्ती की चर्चा सरकार कर रही है, लेकिन दो दिन पहले ही जब सुप्रीम कोर्ट ने मराठा आरक्षण स्थगित कर दिया है, तब राज्य सरकार अचानक जाग गई और 12,000 से अधिक युवाओं की पुलिस में भर्ती की बात कर रही है। पाटिल ने कहा कि राज्य सरकार क्यों एक बार में यह नहीं कहती कि हम मराठा समाज के युवाओं को अधिकार देने में असमर्थ हैं। उन्होंने कहा कि सरकार सिर्फ खोखले आश्वासन दे रही है कि पुलिस विभाग में समाज के युवाओं को 13 फीसदी आरक्षण दिया जाएगा। पाटिल ने कहा कि एक समानांतर आश्वासन अदालत में कभी भी खड़ा नहीं होगा और इस कारण से पूरी भर्ती प्रक्रिया कानूनी रूप से बाधित होगी और केवल मराठा समुदाय के युवाओं को ही नहीं, बल्कि सभी युवाओं को राज्य सरकार की गैर जिम्मेदारी से आघात लगेगा। उन्होंने कहा कि यदि राज्य सरकार अब भी मराठा समाज के लाभ के लिए उचित कदम नहीं उठाती है, तो उन्हें पूरे राज्य में समाज के गुस्से का सामना करना पड़ेगा। जिस तरह से राज्य भर में समाज के युवाओं को गिरफ्तार किया जा रहा है, वह सरकार से थोड़ी संवेदनशीलता के साथ कार्रवाई करने का आग्रह करता है। समाज के युवा महसूस कर रहे हैं कि वे अंधेरे में हैं। उन्हें गुस्सा आना स्वाभाविक है। यह सरकार की जिम्मेदारी है कि वह आंदोलनकारियों पर दबाव न डालें, बल्कि उनके माध्यम से पूरे समाज को आश्वस्त करने का प्रयास करे। गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 70वें जन्मदिन के दिन भाजपा प्रदेशाध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने बधाई दी और अपने विधानसभा क्षेत्र पुणे कोथरुड में भाजपा द्वारा चलाए गए प्रधानमंत्री के जन्मदिन के उपलक्ष्य में सेवा सप्ताह के तहत जरूरतमंद लोगों की मदद की।

Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget