भारत-रूस नौसेना का संयुक्त युद्ध अभ्यास

India Russia exercise
नई दिल्ली
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की मास्को यात्रा के बीच रूस और भारत की नौसेना आज से बंगाल की खाड़ी में दो दिन तक नौसैनिक अभ्यास 'इन्द्र नेवी' में एक दूसरे के साथ रण कौशल संबंधी गुर साझा करेंगी। राजनाथ अभी तीन दिन की यात्रा पर रूस गये हुए हैं। उन्होंने गुरूवार को ही अपने रूसी समकक्ष जनरल सगेईर् शोइगू के साथ रिूपक्षीय बातचीत की जिसमें दोनों पक्षों ने विभिन्न क्षेत्रों में रक्षा सहयोग को बढाने की प्रतिबद्धता व्यक्त की। साल 2003 के बाद से हर 2 वर्ष में होने वाला यह अभ्यास दोनों नौसेनाओं के बीच दीर्घकालिक सामरिक संबंधों का प्रतीक है। समय के साथ साथ इस अभ्यास में परिपक्वता आयी है और इसका दायरा तथा विभिन्न अभियानों की जटिलता के साथ साथ इसमें शामिल किये जाने वाले प्लेटफार्म की हिस्सेदारी भी बढ़ी है।
भारतीय नौसेना की ओर से अभ्यास में मिसाइल विध्वंसक रणविजय, स्वदेशी फ्रिगेट सहयाद्री और फ्लीट टेंकर शक्ति अपने हेलिकॉप्टर के साथ हिस्सा लेंगे। इस बीच सहयाद्री को श्रीलंका के निकट आग की चपेट में आये व्यापारिक जहाज एमटी न्यू डायमंड को सहायता पहुंचाने के लिए भेजा गया है। रूस की ओर से विध्वंसक एडमिरल विनोग्रेडोव , एडमिरल ट्रिबूट और फ्लीट टैंकर बोरिस बुटोमा अभ्यास में हिस्सा ले रहे हैं। दोनों नौसेनाओं के बीच पिछला अभ्यास वर्ष 2018 में विशाखापतनम में हुआ था।

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget