चीनी सेना की हार की हैट्रिक

सीमा पर भारतीय जवानों ने चीन की सेना को फिर खदेड़ा

नई दिल्ली
पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर भारत और चीन के बीच जारी तनाव को लेकर भारतीय सेना ने चीन के झूठे दावे की पोल खोलते हुए कहा है कि पीएलए के जवानों ने उकसावे की कार्रवाई की। हमने न तो लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल को पार किया और न ही हमने चीन की तरफ कोई फायरिंग की। एलएसी की कुछ तस्वीरें सामने आई हैं, जिनमें दिख रहा है कि किस तरह चीनी सैनिक बंदूकों के अलावा भाले और रॉड जैसे हथियारों के साथ घुसपैठ की कोशिश में थे। करीब 50 सैनिक सोमवार को शाम करीब छह बजे मुखपारी चोटी के पास स्थित भारतीय चौकी की ओर आक्रामक तरीके से बढ़ रहे थे। चीन की सेना का प्रयास भारतीय सैनिकों को लद्दाख में मुखपारी चोटी और रेकिन ला क्षेत्रों में स्थित सामरिक चोटियों से हटाना था। जब भारतीय सेना ने चीन की पीएलए को रोका तो उन्होंने हमारे सैनिकों को भयभीत करने के लिए हवा में 10-15 बार गोलियां चलाईं। लेकिन भारत ने इसका मुंहतोड़ जवाब दिया और चीनी सैनिकों को लौटने पर मजबूर कर दिया। पिछले लगभग चार महीनों में यह तीसरा मौका है, जब चीनी सेना को सीमा पर मुंह की खानी पड़ी है।
सेना ने पूरी घटना पर प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि 7 सितंबर को पीएलए के जवानों ने एलएसी से लगी हुई हमारी एक फॉरवर्ड पोजीशन के करीब आने की कोशिश की। जब हमारे जवानों ने इसका जवाब दिया तो चीन की सेना ने हमारे जवानों को धमकी देने के अंदाज में हवाई फायरिंग की। हालांकि, इस गंभीर उकसावे के बावजूद हमारी सेना ने जिम्मेदार और परिपक्व तरीके से मौके को संभाला।
चीन ने फिर अलापा पुराना राग
भारत की तरफ से चीर के आरोपों को पूरी तरह से खारिज किए जाने के बाद चीन ने फिर अपना पुराना राग अलापा है। चीन के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि 7 सितंबर को भारतीय सैनिकों ने अवैध तरीके से एलएसी पार की और पैंगोंग त्सो के दक्षिणी किनारे पर पहुंच गए। चीनी विदेश मंत्रालय ने अपने आरोप में यह भी कहा कि भारतीय सैनिकों ने पैट्रोलिंग कर रहे हमारे सैनिकों पर फायरिंग की। 1975 से ये पहली बार है जब फायरिंग की वजह से शांति बाधित हुई है। हमने हमेशा इस बात पर जोर दिया है कि दोनों पक्षों को शांतिपूर्ण तरीके से बातचीत के जरिए अपने मतभेदों को सुलझाना चाहिए।

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget