आईआईएमसी में संवाद और विमर्श का माध्यम बनेगा हिंदी पखवाड़ा

IIMC
नई दिल्ली
जनसंचार के शिक्षण, प्रशिक्षण तथा शोध के क्षेत्र में गौरवपूर्ण स्थान रखने वाला भारतीय जन संचार संस्थान (आईआईएमसी) हर बार की तरह इस वर्ष भी हिंदी पखवाड़े का आयोजन नए अंदाज और नए कलेवर के साथ कर रहा है। कोविड-19 महामारी के कारण बदली परिस्थितियों के बावजूद इस पखवाड़े के आयोजन को लेकर उत्साह और उमंग में कोई कमी नहीं है। आगामी 14 से 28 सितंबर 2020 तक मनाए जाने वाले इस पखवाड़े का शुभारम्भ और समापन राष्ट्रीय स्तर के दो महत्वपूर्ण विमर्शों के आयोजन से होने जा रहा है, जिनमें सात राज्यों के विद्वान अपने विचार प्रकट करेंगे। यह जानकारी प्रो. द्विवेदी ने बताया कि पखवाड़े का शुभारम्भ 14 सितंबर को भारतीय भाषाओं में अंतर-संवाद विषय पर वेबिनार से होगा। इस वेबिनार में जनसत्ता के पूर्व संपादक एवं माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति अच्युतानंद मिश्र मुख्य अतिथि होंगे। भारतीय भाषाओं में अंतर-संवाद पर होने वाले इस विमर्श में गुजराती भाषा के साप्ताहिक साधना के प्रबंध संपादक मुकेश शाह, हैदराबाद से प्रकाशित होने वाले उर्दू दैनिक डेली सियासत के संपादक अमीर अली खान तथा कोलकाता प्रेस क्लब के अध्यक्ष स्नेहशीष सुर अपने विचार प्रकट करेंगे। आईआईएमसी के महानिदेशक ने बताया कि पखवाड़े का समापन राष्ट्रीय शिक्षा नीति और भारतीय भाषाएं विषय पर वेबिनार से होगा। इस वेबिनार में हिमाचल प्रदेश केंद्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. कुलदीप चंद्र अग्निहोत्री मुख्य अतिथि होंगे, जबकि अध्यक्षता महात्मा गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय, मोतिहारी के कुलपति प्रो. संजीव कुमार शर्मा करेंगे।
Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget