'ब्रेक ने कोहली को बनाया और बेहतर'

Virat Kohli
नई दिल्ली
राष्ट्रीय टीम में फिटनेस के स्तर में बदलाव के लिए जिम्मेदार बासु शंकर को लगता है कि भारतीय और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम के कप्तान विराट कोहली लंबे ब्रेक के बाद और बेहतर एथलीट बन गए हैं। क्योंकि इस दौरान उन्होंने शारीरिक फिटनेस के उन पहलुओं पर ध्यान लगाया जिन पर काम करने की जरूरत थी।
कोरोना वायरस के कारण लगे लॉकडाउन के कारण कोहली पांच महीने तक मुंबई में फंस गए और नेट पर उनका अभ्यास अच्छी तरह से यहां संयुक्त अरब अमीरात पहुंचकर ही हो पाया। लेकिन उन्होंने सुनिश्चित किया कि ब्रेक के दौरान उनके फिटनेस के स्तर पर कोई असर नहीं पड़े और बल्कि जहां तक कौशल की बात है तो इससे उन्हें वापसी में मदद ही मिली हालांकि वह नेट पर अभ्यास शुरू करने के दौरान थोड़े डरे हुए थे। पूर्व भारतीय ट्रेनर बासु अब रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (आरसीबी) के 'स्ट्रेंथ एंड कंडिशनिंग' कोच हैं, उन्होंने कहा कि वह (कोहली) काफी अच्छी फिटनेस के साथ आया है। उसका वजन इस समय बिलकुल सही है और उसके 'मूवमेंट पैटर्न' भी लय में हैं जो पहले से बेहतर हैं।
भारतीय टीम के साथ 2015 से 2019 तक काम करने वाले पूर्व भारतीय ट्रेनर बासु बासु ने कहा कि उसने इस ब्रेक का इस्तेमाल शारीरिक रूप से उन सभी चीजों पर काम करने के लिए किया जिन पर ध्यान लगाने की जरूरत थी। बासु आरसीबी और भारतीय टीम के साथ रहने के दौरान कोहली के साथ फिटनेस पर काफी काम करते थे।

कोहली का साथी खिलाड़ियों को सख्त संदेश
इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के नए सीजन के लिए रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर ने शारजाह में अपनी तैयारियां करनी शुरू कर दी हैं। ऐसे में आरसीबी के कप्तान विराट कोहली ने अपने खिलाड़ियों को सख्त संदेश दिया है कि वे ट्रेनिंग पर ज्यादा-से-ज्यादा फोकस करें। कोहली ने अपने साथी खिलाड़ियों को सुझाव दिया है कि ट्रेनिंग के दौरान उनका कार्यभार कम किया जा सकता है, बशर्ते जितनी देर वे ट्रेनिंग करें अपनी पूरी क्षमता के साथ करें।
Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget