यूपी के स्कूलों की बदलेगी सूरत

लखनऊ
मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी की अध्यक्षता में हुई सर्व शिक्षा अभियान कार्य परिषद की 54वीं बैठक में राज्य में प्रारंभिक शिक्षा, शिक्षक प्रशिक्षण तथा माध्यमिक शिक्षा के लिए वर्ष 2020-21 में 9007.88 करोड़ रुपये का प्रस्ताव अनुमोदित किया गया। प्रारंभिक शिक्षा के लिए 8609.82 करोड़, शिक्षक प्रशिक्षण के लिए 109.52 करोड़ तथा माध्यमिक शिक्षा के लिए 288.73 करोड़ रुपये का अनुमोदन दिया गया। 26729 परिषदीय उच्च प्राथमिक विद्यालयों में छात्र-छात्राओं के बैठने के लिए फर्नीचर, 1160 विद्यालयों में पीने के पानी के लिए सबमर्सिबल पंप, 6686 विद्यालयों का विद्युतीकरण, 688 विद्यालयों में अतिरिक्त कक्षों का निर्माण, 975 प्राथमिक तथा 219 उच्च प्राथमिक जर्जर विद्यालयों के भवनों का पुन: निर्माण कराया जाएगा। कक्षा 1 से 8 तक के अध्ययनरत लगभग 179.32 लाख विद्यार्थियों को नि:शुल्क पाठम्य पुस्तक, 154.50 लाख बच्चों को नि:शुल्क यूनिफार्म उपलब्ध कराया जाएगा। 159665 विद्यालयों तथा प्रबन्ध समिति के सदस्यों को प्रशिक्षण व सशक्तीकरण के कार्यक्रम और जन पहल रेडियो के कार्यक्रम संचालित किए जाएंगे। आउट आफ स्कूल बच्चों का चिन्हीकरण, पंजीकरण व नामांकन के लिए 7-14 आयु वर्ग के 107190 बच्चों के लिए 09 माह का गैर आवासीय विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रम संचालित किया जाएगा। प्री-प्राइमरी आंगनबाड़ी केन्द्रों के लिए प्रधानाध्यापकों को प्रशिक्षण, बायोमैट्रिक उपस्थिति, डिजिटल लर्निंग और मानिटरिंग के लिए परिषदीय विद्यालयों तथा सभी अकडेमिक रिसोर्स पर्सन्स को टेबलेट की व्यवस्था, 949 उच्च प्राथमिक विद्यालयों में आईसीटी इंटीग्रेटेड स्मार्ट क्लास, आनलाइन शिक्षक-प्रशिक्षण के लिए दीक्षा कन्टेन्ट क्रिएशन सेल की स्थापना की जाएगी।

Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget