अगस्त में मामूली घटी महंगाई खाने-पीने की चीजें अब भी महंगी

Vegetable Market
नई दिल्ली
खुदरा मुद्रास्फीति अगस्त महीने में मामूली घटकर 6.69 प्रतिशत रही। सोमवार को जारी आधिकारिक आंकड़े के अनुसार हालांकि खाद्य मुद्रास्फीति अभी भी ऊंची बनी हुई है। सरकार ने जुलाई महीने की खुदरा मुद्रास्फीति का आंकड़ा संशोधित कर 6.73 प्रतिशत कर दिया है जबकि पहले इसके 6.93 प्रतिशत रहने की बात कही गई थी। माह के दौरान खाद्य वस्तुओं की महंगाई 9.62 प्रतिशत रही।
उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) आंकड़े के अनुसार अगस्त महीने में खाद्य वस्तुओं की मुद्रास्फीति मामूली घटकर 9.05 प्रतिशत रही। रिजर्व बैंक मौद्रिक नीति की समीक्षा करते समय मुख्य रूप से खुदरा मुद्रास्फीति पर गौर करता है। सरकार ने केंद्रीय बैंक को खुदरा मुद्रास्फीति दो प्रतिशत घट-बढ़ के साथ 4 प्रतिशत पर रखने का जिम्मा सौंपा है। इस बीच विनिर्मित उत्पाद महंगे होने से अगस्त में थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति बढ़कर 0.16 प्रतिशत पर पहुंच गई। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय की ओर से सोमवार को जारी बयान में यह जानकारी दी गई। इससे पहले पिछले कई महीनों तक थोक मुद्रास्फीति नकारात्मक दायरे यानी शून्य से नीचे रही थी। अप्रैल में यह -1.57 प्रतिशत, मई में -3.37 प्रतिशत, जून में -1.81 प्रतिशत और जुलाई में -0.58 प्रतिशत रही थी। इस दौरान कोरोना वायरस महामारी की वजह से लागू लॉकडाउन से आर्थिक गतिविधियां बुरी तरह प्रभावित हुई थीं। मार्च में थोक मुद्रास्फीति 0.42 प्रतिशत पर थी।

मंहगे हुए यह समान
जुलाई महीने की तुलना में अगस्त में खाद्य पदार्थों, सब्जी और फल, चमड़े के उत्पाद, लकड़ी और लकड़ी के उत्पाद, बिजली के इपकरण और परिवहण उपकरण महंगे हो गये हैं. अगस्त में खाद्य पदार्थों में मुद्रास्फीति 3.84 फीसदी रही. इस दौरान आलू की कीमतों में 82.93 फीसदी का उछाल हुआ. सब्जियों की महंगाई दर इस समय 7.03 फीसदी रही.पिछले महीने ही अपनी नीति समीक्षा बैठक में भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया था।

Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget