ऊ कहते हैं 10 लाख नौकरियां देंगे; ... धंधा ना शुरू कर दें

नीतीश का तेजस्वी पर निशाना

गया

नीतीश कुमार ने गया के टेकारी में कहा- पहले दलितों के कंधे पर रखकर बंदूक चलाते थे। अब बंदूक चलाने के लिए कोई अपना कंधा नहीं देता। तेजस्वी यादव ने कहा था सरकार बनी तो पहली कैबिनेट में पहली कलम से 10 लाख नौकरी युवाओं को देंगे। नीतीश कुमार ने तेजस्वी के कैबिनेट की पहली कलम से 10 लाख नौकरियां देने के वादे पर निशाना साधा। गया के शेरघाटी विधानसभा क्षेत्र में चुनावी सभा के दौरान सोमवार को तेजस्वी पर हमला बोलते हुए कहा- 'ऊ कहते हैं 10 लाख नौकरिया देंगे। अरे, पैसवा एतना कहां से आवेगा तोरा? ई सब संभव है क्या? बताइए कहीं ऐसा ना हो नौकरिया देने के नाम पर अपने ही धंधा ना शुरू कर दे।'

तेजस्वी के अनुभव पर चुटकी लेते हुए कहा कि कहने से कुछ नहीं होता है। उन्हें काम करने का कोई अनुभव नहीं है। 15 साल में कितना नौकरी दे दिए, ये सब जानते हैं। हमने 6 लाख से ज्यादा लोगों को नौकरी दी। विकास मित्र, टोला सेवक, तालीमी मरकज और स्वंय सेवकों के माध्यम से लोगों को रोजगार दिया।

गया के अतरी विधानसभा क्षेत्र में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा हमने अपराध पर नियंत्रण किया है। इतनी बड़ा आबादी होने के बावजूद अपराध में बिहार 23वें नंबर पर है। पहले यहां लोग दलितों के कंधे पर रखकर बंदूक चलाते थे। आपराधिक घटनाएं होती थीं। हमने सभी को सम्मान दिया, आगे आने का मौका दिया। अब कोई अपना कंधा बंदूक चलाने के लिए नहीं देता।

अपराध, भ्रष्टाचार और साम्प्रदायिकता हम बर्दाश्त नहीं करेंगे। उन्होंने कहा बिहार में बिजली की क्या स्थिति थी, ये किसी से छुपा हुआ नहीं है। अब यहां 6 हजार मेगावाट बिजली की खपत है। अगली बार मौका मिला तो हर गांव में सोलर लाइट लगवाएंगे। हमारा लक्ष्य 2018 दिसंबर तक हर घर बिजली पहुंचाने का था, हमने अक्टूबर में ही हर घर बिजली पहुंचा दी। हम सिर्फ ऐलान नहीं करते हैं, काम भी करते हैं। आगे मौका दीजिएगा तो युवाओं को बिहार में हर प्रकार की तकनीक की ट्रेनिंग करवाएंगे।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget