राज्यसभा की 11 सीटों पर चुनाव का ऐलान

10 पर मैदान मार सकती है भाजपा

BJP_flag

नई दिल्ली

उत्तर प्रदेश की 10 और उत्तराखंड की एक सीट पर राज्यसभा चुनाव होने हैं। इन सभी 11 सीटों पर 27 अक्टूबर को नामांकन और 9 नवंबर को मतदान होगा।

मतदान के दिन ही मतों की गणना कर ली जाएगी और नतीजे 11 नवंबर को घोषित किए जाएंगे। यूपी में सपा को जबरदस्त नुकसान और भाजपा को सियासी तौर पर सात सीटों का फायदा होता नजर आ रहा है। इसके जरिए एनडीए पहली बार बहुमत के आंकड़े को आसानी से हासिल कर लेगा।

राज्यसभा की 11 सीटों पर चुनाव के लिए निर्वाचन आयोग ने नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। इनमें उत्तर प्रदेश की 10 और उत्तराखंड की एक सीट पर राज्यसभा चुनाव होने हैं। इन सभी 11 सीटों पर 27 अक्टूबर को नामांकन और 9 नवंबर को मतदान होगा। मतदान के दिन ही मतों की गणना कर ली जाएगी और नतीजे 11 नवंबर को घोषित किए जाएंगे।

इन राज्यसभा सदस्यों का कार्यकाल हो रहा पूरा

दरअसल, 25 नवंबर को उत्तर प्रदेश से राज्यसभा के 10 सदस्यों का कार्यकाल खत्म होने जा रहा है। इनमें सबसे ज्यादा सपा के सदस्य हैं। सपा के चन्द्रपाल सिंह यादव, रवि प्रकाश वर्मा,, विशंभर प्रसाद निषाद, जावेद अली खान, प्रोफेसर रामगोपाल यादव की सीटें रिक्त हो रही हैं जबकि भाजपा कोटे की दो सीटें रिक्त हो रही हैं, जिनमें अरुण सिंह और नीरज शेखर की सीट है। इसके अलावा बसपा से वीर सिंह और राजाराम की सीट शामिल है और कांग्रेस कोटे से पीएल पुनिया का भी कार्यकाल पूरा हो रहा है। इसके अलावा उत्तराखंड से कांग्रेस के राज्यसभा सांसद राज बब्बर का कार्यकाल पूरा हो रहा है।

सपा को हो रहा भारी नुकसान

मौजूदा समय की बात करें तो यूपी विधानसभा में अभी 395 (कुल सदस्य संख्या-403) विधायक हैं और 8 सीटें खाली हैं, जिनमें से 7 सीटों पर उपचुनाव हो रहे हैं। ऐसे में राज्यसभा चुनाव तक उनके नतीजे नहीं आ सकेंगे। यूपी विधानसभा की मौजूदा स्थिति के आधार पर नवंबर में होने वाले चुनाव में जीत के लिए हर सदस्य को करीब 37 वोट चाहिए। यूपी में मौजूदा समय में भाजपा के पास 306 विधायक हैं, जबकि 9 अपना दल और 3 निर्दलीय विधायकों का समर्थन हासिल है।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget