पाक में बैठे 18 अपराधियों को भारत ने घोषित किया आतंकी

Terrorist

नई दिल्ली

केंद्र सरकार ने मंगलवार को पाकिस्तान में बैठे भगोड़े आतंकियों या उनके सहयोगियों को आतंकवादी घोषित कर दिया है। इनमें 1993 मुंबई सीरियल बम धमाकों, 26/11 मुंबई हमले, 2019 पुलवामा हमला, 2016 पठानकोट 'आईएएफ बेस अटैक, 1999 आईसी-814 इंडियन एयरलाइंस हाइजैकिंग, इंडियन मुजाहिद्दीन हमले और जम्मू-कश्मीर में आतंकी गतिविधियों में शामिल आतंकी हैं।

इन आतंकियों की जब्त की जा सकेगी संपत्ति

 गैरकानूनी गतिविधियां रोकथाम अधिनियम के तहत 'व्यक्तिगत आतंकवादी घोषित किए गए लोगों में पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस का खास साजिद मीर भी शामिल है, जिसने 26/11 मुंबई हमलों की कराची में बने कंट्रोल रूम से निगरानी की थी। अब इन आतंकियों की संपत्तियों को आसानी से जब्त किया जा सकता है।

सलाहुद्दीन समेत ये आतंकी हैं लिस्ट में

हिजबुल मुजाहिद्दीन का सरगना सैयद सलाहुद्दीन, लश्कर-ए-तैयबा का मुखिया हाफिज सईद का रिश्तेदार अब्दुर रहमान मक्की, जैश-ए-मोहम्मद का चीफ मौलाना मसूद अजहर का भाई अब्दुल रउफ असगर, आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिदीन का संस्थापक रियाज भटकल और उसका भाई इकबाल भटकल और अंडरवर्ल्ड डॉन दाउद इब्राहिम का 'दाहिना हाथ' छोटा शकील और डी कंपनी के दो अन्य टाइगर मेमन और जावेद चिकना भी इस लिस्ट में शामिल हैं।

जुलाई में आतंकी घोषित किए गए थे 9 खालिस्तानी

सितंबर 2019 में मसूद अजहर, हाफिज सईद, दाऊद इब्राहिम और जकी-उर-रहमान लखवी को आतंकी घोषित किया था, जबकि अमेरिका स्थित सिख फॉर जस्टिस के हेड गुरपतवंत सिंह समेत 9 खालिस्तानी आतंकियों को इसी साल जुलाई में आतंकी घोषित किया गया था।

गृह मंत्रालय की ओर से मंगलवार को जारी बयान के अनुसार, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मजबूत इच्छाशक्ति वाले नेतृत्व में केंद्र सरकार ने गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम 1967 को अगस्त 2019 में संशोधित किया था और इसमें किसी व्यक्ति को आतंकवादी घोषित करने का प्रावधान शामिल किया गया।'


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget