पहले चरण की 71 में 42 सीटों पर बगावत

पटना

चुनाव के पहले चरण के रण की 71 सीटों में से 42 सीटों पर बागी उम्मीदवार मैदान में हैं। भाजपा, कांग्रेस, जदयू, राजद, लोजपा सभी बगावत से जूझ रही है। कई सीटों पर तमाम बड़े दलों के उम्मीदवारों को अपनों से लड़ना पड़ रहा है। कल तक जो खुद को किसी पार्टी का सच्चा सिपाही बताते फिर रहे थे, वही टिकट न मिलने पर दलबदल कर मुसीबत बन गए हैं। ऐसे उम्मीदवारों के लिए न दल बड़ा है, न विचारधारा।

टिकट ही मकसद।

तरारी सीट भाजपा के खाते में गई तो लोजपा में बगावत हो गई। लोजपा नेता और पूर्व विधायक सुनील पाण्डेय ने निर्दलीय ही ताल ठोक दी। संदेश सीट जदयू के खाते में गई तो भाजपा में बगावत हुई। भाजपा नेता श्वेता सिंह ने रातोंरात दल बदल लिया और लोजपा का टिकट लेकर मैदान में उतर गईं। डुमरांव में जदयू ने अंजुम आरा को टिकट दिया। डुमरांव से जदयू के पूर्व विधायक ददन यादव निर्दलीय ही मैदान में उतर गए। ब्रह्मपुर से भाजपा का टिकट नहीं मिलने पर भरत शर्मा ने निर्दलीय पर्चा भर दिया। भभुआ में तो जदयू के जिलाध्यक्ष प्रमोद कुमार सिंह ने निर्दलीय पर्चा दाखिल कर दिया। बांका में राजद नेता श्रीधर मंडल ने लालटेन को छोड़कर निर्दलीय पर्चा भरा है। अमरपुर में भाजपा प्रत्याशी रहे डॉ. मृणाल शेखर ने भी बगावत कर दी और लोजपा के साथ हो गए। कहलगांव से भागलपुर के जदयू सांसद अजय कुमार मंडल के भाई और जदयू नेता अनुज कुमार मंडल एनसीपी उम्मीदवार हो गए हैं। जदयू महिला प्रकोष्ठ की पूर्व प्रदेश अध्यक्ष कंचन गुप्ता ने भी बगावत कर दी है। कंचन गुप्ता ने भी निर्दलीय पर्चा दाखिल किया है। तारापुर में कांग्रेस में बगावत हुई है। राजेश कुमार मिश्रा बागी हो गए हैं और निर्दलीय मैदान में उतर गए हैं। सूर्यगढ़ा में जदयू के लखीसराय विधानसभा के प्रभारी रविशंकर प्रसाद सिंह लोजपा से और जदयू अति पिछड़ा प्रकोष्ठ के प्रदेश महासचिव गणेश कुमार बिंद ने रालोसपा से नामांकन किया है। यहीं से भाजपा नेता पप्पू सिंह ने राजपा से नामांकन किया है। वजीरगंज में भाजपा के राजीव कुमार ने जाप कि टिकट पर नामांकन किया है।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget