दुर्घटना में टूटे दांत ने बना दिया लखपति

मुंबई
छह साल पहले एक कार दुर्घटना में सात दांत गंवाने वाली 33 वर्षीय महिला को उसके कार मालिक और बीमा कंपनी को मुआवजे के रूप में 8.5 लाख रुपये देने का आदेश दिया गया है। हादसे में महिला के 56 वर्षीय पिता की भी मौत हो गई थी जो हर महीने 40,000 रुपये कमा रहे थे। ट्रिब्यूनल ने उसके पिता की मौत के मुआवजे के रूप में 37 लाख रुपये देने का भी आदेश दिया है। शिकायतकर्ता महिला और उसके परिवार ने कार के मालिक और आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इंश्योरेंस कंपनी के खिलाफ दो मुकदमे दर्ज किए थे। अब कंपनी को दोनों मामले में यह मुआवजा देना होगा। जानकारी के अनुसार दुर्घटना में महिला के सात दांत टूटकर खराब हो गए थे जिन्हे बदलना पड़ा था। इस उपचार में दो साल का समय लगा था।इसके चलते उसे न केवल काम से बल्कि सामाजिक आयोजनों से भी दूर रहना पड़ा था। शिकायतकर्ता महिला और उसका परिवार 23 फरवरी 2014 को किराए की कार में सतारा जा रहे थे। लेकिन तालेगांव टोल प्लाजा पर कार का चालक नियंत्रण खो बैठा और सड़क के डिवाइडर से टकरा गया। इस दुर्घटना में पीड़िता और उसके पिता के सिर और सीने में गंभीर चोटें आईं। जबकि परिवार के अन्य सदस्य भी घायल हो गए। सभी को पुणे के एक अस्पताल में ले जाया गया। इलाज के दौरान शिकायतकर्ता महिला के पिता की मौत हो गई, जबकि उसके सात दांत टूट गए थे। पीड़िता और उसके परिवार ने जून 2014 में एक मुकदमा दायर किया था और मध्यस्थ से मुआवजे की मांग की थी।
आरोपों को दायर करने में देरी का हवाला देते हुए बीमा कंपनी ने दोनों दावों पर आपत्ति जताई। कंपनी ने दावा किया कि मामला दर्ज करने में देरी के लिए कोई स्पष्टीकरण नहीं दिया गया था। कार डिवाइडर से टकराकर दूसरी कार से जा टकराई जिसके बाद वाहन चालक ने दुर्घटना की सूचना पुलिस को दी।

Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget