ताहिर हुसैन और अमित गुप्ता के खिलाफ ईडी ने दायर किया आरोप पत्र

tahir husain

नई दिल्ली

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने दिल्ली दंगे से जुड़े धन शोधन (मनी लॉन्ड्रिंग) के मामले में मुख्य आरोपी एवं पूूूर्व पार्षद ताहिर हुसैन के खिलाफ धनशोधन निरोधक अधिनियम (पीएमएलए) के तहत शनिवार को कड़कड़डूमा स्थित अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश अमिताभ रावत की अदालत में आरोप पत्र दायर किया है। ईडी ने आरोप पत्र में अमित गुप्ता नाम के व्यक्ति को सह-आरोपित बनाया है।

अदालत ने आरोप पत्र पर संज्ञान लेते हुए दोनों आरोपितों को 19 अक्टूबर को पेश होने का आदेश दिया है। साथ ही कहा है कि प्रथम दृष्या आरोपितों के खिलाफ पर्याप्त सुबूत हैं। 24 व 25 फरवरी को उत्तर-पूर्वी दिल्ली में दंगा हुआ था। इसमें 53 लोग मारे गए और 200 से ज्यादा लोग घायल हुए थे। इस मामले में प्रवर्तन निदेशालय नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन और दिल्ली में दंगा भड़काने के लिए ताहिर हुसैन और उससे जुड़े व्यक्तियों द्वारा डमी कंपनियां बनाकर अवैध तरीके से 1.10 करोड़ रुपये जुटाने के आरोप में जांच कर रहा था। इसमें पर्याप्त साक्ष्य मिलने पर ईडी ने शनिवार को अदालत में आरोप पत्र दायर किया।

बता दें कि दिल् ली दंगे में कई लोगों को जान माल का नुकसान हुआ था। केंद्र सरकार के नागरिकता कानून के विरोध में शुरू हुआ प्रदर्शन धीरे-धीरे बड़ा स् वरूप ले लिया। इसके बाद दिल् ली के उत् तरी पूर्वी जिले में इस विरोध प्रदर्शन ने दंगे का रूप ले लिया। इसके बाद जहां-तहां मारपीट की घटनाएं होने लगीं। वहीं कई लोगों की दुकाने कई लोगों के आशियाने पूरी तरह जल कर बर्बाद हो गए थे।

दिल् ली दंगे के दौरान राजस्थान के सीकर के रहने वाले दिल्ली पुलिस के हेड कांस्टेबल रतन लाल की 24 फरवरी को गोकलपुरी में हुई हिंसा के दौरान मौत हो गई थी। मौत का कारण गोली लगना था। इस मामले में डीसीपी और एसीपी सहित कई पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल गए थे। साथ ही आईबी अफसर अंकित शर्मा की हत्या करने के बाद उनकी लाश नाले में फेंक दी गई थी।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget