महागठबंधन में बन गई बात

पटना
विस चुनाव को लेकर महागठबंधन में सीट शेयरिंग का फॉर्मूला तय होता दिख रहा है। इसके पहले कांग्रेस ने अपना रूख भी नरम किया। बिहार कांग्रेस के प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल के कड़े बयान से नाराज राष्ट्रीय जनता दल (राजद) नेता तेजस्वी यादव की राहुल गांधी से सीधी बातचीत हुई। विदित हो कि कांग्रेस के बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने तेजस्वी यादव के अनुभव व योग्यता पर सवाल खड़े करते हुए कहा था कि अगर सीटों की बात नहीं बनी तो कांग्रेस हर स्थिति के लिए तैयार है। इसपर आरजेडी ने भी पलटवार किया। फिर मामला बिगड़ता देख प्रियंका गांधी ने हस्तक्षेप किया।
सूत्रों के अनुसार कांग्रेस व आरजेडी के बीच कई दौर की बैठकों एवं राहुल गांधी व तेजस्वी यादव की बातचीत के बाद महागठबंधन में कांग्रेस की सीटों का विवाद सुलझ गया है। बताया जाता है कि आरजेडी व कांग्रेस दोनों से लचीला रूख अपनाया है। आरजेडी करीब 138 सीटों पर अपने प्रत्याशी देगी तो कांग्रेस भी अपनी मांग से घट कर करीब 68 सीटों के लिए राजी बताई जा रही है। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी माले (सीपीआईएमएल) को 19 तो मार्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी व भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी को आरजेडी 10 सीटें देने को राजी हो गई है। विकासशील इनसान पार्टी को भी करीब एक दर्जन सीटें दी जा सकतीं हैं। बताया जाता है कि बातचीत का दौर अभी भी जारी है, इसलिए सीटों की संख्या में हल्की फेरबदल हो सकती है।
विदित हो कि राहुल गांधी के हस्तक्षेप के पहले तक महागठबंधन में सीट बंटवारे का पेंच फंसा हुआ था। आरजेडी करीब 150 सीटों पर चुनाव लड़ना चाहता था। कांग्रेस अपने लिए 70 से 80 सीटें मांग रही थी, लेकिन आरजेडी 65 से अधिक देने के लिए तैयार नहीं थी। कांग्रेस किसी समझौते के मूड में नहीं दिख रही थी।इसे लेकर कांग्रेस नेताओं के बयान आ रहे थे। बिहार कांग्रेस प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल के ताजा बयान से तेजस्वी यादव बेहद नाराज हो गए थे।

Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget