अभी भी सावधानी बहुत जरूरी

यह राहत की बात है कि कोरोना से ठीक होने के मामले में हमारे देश की स्थिति दुनिया में सबसे अच्छी है. मृत्यु दर भी दुनिया की तुलना में काफी कम है लेकिन इससे निश्चिंत होने की अवस्था अभी कदापि नहीं आयी है. घर से बाहर निकलना जरूरी है, क्योंकि अधिकांश कार्यालय खुल गए है, और अन्य आर्थिक क्रियाकलाप भी शुरू है. इसलिए लोगों की आवाजाही बढ़ रही है. आखिर कब तक लोग घरों में दुबके बैठे रह सकते है, इसकी भी एक सीमा है. आवश्यक होने पर निकलें जरूर लेकिन इस तरह निकलें कि आप कोरोना के चपेट में न आयें, यह आपके हाथ में है और आप यह कर सकते है. बशर्ते आप उन मापदंडों का पूरी तरह अनुपालन करें, जो इस बीमारी से बचने के लिए आपको बताया जा रहा है. सतत अद्यतन रूप से आपके समाने सरकार द्वारा और देश की जिम्मेदार स्वास्थ्य एजेंसियों द्वारा समय-समय पर बताया जा रहा है. अभी ऐसे लोग भी सामने आ रहे है जो मास्क लगाने के, समाजिक दूरी बरकरार रखने के और समय-समय पर हाथ धोते रहने के निर्देशों का पालन नहीं कर रहे है. यह घोर लापरवाही है, ऐसे लोगों को उन दृष्टांतों सें अपने-आपको परिचित कराना चाहिए, जो भुक्तभोगी बताते है कि किस तरह इसकी चपेट में आये व्यक्ति और उसके परिवारजनों को परेशानी झेलनी पड़ती है, उसे पता लग जाएगा. इस दौरान कोरोना योद्धा जिस तरह की लड़ाई लड़ रहे है वह स्तुत्य है, परन्तु जिस तरह लूट की, गैर ज़िम्मेदाराना व्यवहार की बातें निजी अस्पतालों को लेकर जन चर्चा में है, उसे लेकर भी सरकार को और संवेदनशील होने की जरूरत है. हमारे यहाँ आपदा को अवसर मे तब्दील करने वाले मानवता के शत्रुओं की कमी नहीं है. लब्बोलुआब यह है कि अभी हर व्यक्ति को पूरी सावधानी के साथ अपना हर कदम उठाना है, जिससे इस बीमारी का प्रसार रुके और जनजीवन सामन्य हो सके.

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget