किसानों के मुआवजे की तत्काल घोषणा हो: पाटिल


मुंबई

राज्य में भारी बारिश के कारण मराठवाड़ा, पश्चिम महाराष्ट्र सहित अन्य कई जिलों में किसानों की नुकसान की भरपाई को लेकर को गरमाई राजनीति के बीच भाजपा प्रदेशाध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने राज्य की महाविकास आघाड़ी सरकार पर जमकर निशाना साधा। रविवार को सांगली में आयोजित पत्रकार परिषद को संबोधित करते हुए पाटिल ने कहा कि भारी बारिश के कारण राज्य के कई जिलों में किसानों की फसल प्रभावित हुई है। राज्य सरकार को फसलों का पंचनामा कर किसानों को मुआवजा देना चाहिए, लेकिन सरकार ऐसा न करते हुए नुकसान की पूरी जिम्मेदारी केंद्र सरकार की बता रही है। मैं राज्य सरकार से पूछना चाहता हूं कि सारी जिम्मेदारी केंद्र सरकार की है तो राज्य सरकार क्या करेगी? पाटिल ने कहा कि राज्य सरकार को भारी बारिश से पीड़ित किसानों को मदद की तत्काल घोषणा करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि राज्य में भारी बारिश ने कृषि को गंभीर नुकसान पहुंचाया है, जिसे लेकर राज्य सरकार के मंत्री मुआवजे के लिए केंद्र की ओर उंगली उठा रहे हैं, लेकिन उन्हें यह मालूम होना चाहिए कि पिछले साल नवंबर में जब राज्य में भारी बारिश के दौरान तत्कालीन मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने राज्य के खजाने से 10,000 करोड़ रुपए की आपातकालीन सहायता की घोषणा की थी। उसके बाद, केंद्र सरकार ने 6,500 करोड़ रुपए की सहायता प्रदान की थी, लेकिन राज्य की मौजूदा सरकार ने इस तरह का कोई कदम अभी तक नहीं उठाया है। पाटिल ने कहा कि राज्य में भारी बारिश के कारण किसानों के हुए नुकसान की भरपाई करना राज्य सरकार का प्रथम दायित्व है। सरकार किसानों की मदद को लेकर बयान तो जारी करे, उसके बाद सहायता घोषित की जानी चाहिए। पाटिल ने कहा कि इसके बाद केंद्र सरकार से मदद मांगी जानी चाहिए। पाटिल ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर निशाना साधते हुए कहा कि पिछले साल राज्य में राष्ट्रपति शासन के दौरान उन्होंने किसानों को 25 हजार रुपए प्रति हेक्टेयर मदद देने की मांग की थी, अब जब खुद उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री हैं तो उन्हें यह मदद की घोषणा करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि राज्य में कोरोना की स्थिति में सभी मदद केंद्र सरकार द्वारा प्रदान की गई है। केंद्र सरकार द्वारा खाद्यान्न, सिलेंडर, गरीबों को पैसा सब कुछ प्रदान किया गया है। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि केंद्र सरकार ने चिकित्सा सहायता भी प्रदान की है। उन्होंने स्पष्ट किया है कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को भारी बारिश की स्थिति में मदद के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास जाने की योजना बनानी चाहिए।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget