आज भारत मजबूत है: मोदी

हम समाधान की धरती बनकर उभरे हैं

Modi

 नई दिल्ली

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को वार्षिक निवेश भारत सम्मेलन में कहा कि कोरोना के बाद की दुनिया में हमें विभिन्न प्रकार की समस्याओं के बारे में सुनने को मिलेगा। विनिर्माण की समस्या, आपूर्ति श्रृंखला की समस्या, पीपीई की समस्या आदि। हालांकि, भारत में हमने इन समस्याओं को आने नहीं दिया। हम समाधान की धरती बनकर उभरे हैं।
पीएम मोदी ने कहा कि भारत दुनिया में फार्मेसी की भूमिका निभा रहा है। हमने अब तक लगभग 150 देशों को दवा उपलब्ध कराई है। इस वर्ष मार्च-जून के दौरान हमारे कृषि निर्यात में 23 फीसदी की वृद्धि हुई। यह तब हुआ जब पूरे देश में लॉकडाउन सख्ती से लागू था। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, आज भारत की कहानी मजबूत है और आने वाला कल इससे भी मजबूत होगा।
मोदी ने कहा कि भारत में हर किसी के लिए निवेश करने, बिजनेस चलाने और ग्रोथ करने का मौका है। उन्होंने कहा कि भारत कई सेक्टरों में एसेट्स को मॉनीटाइज कर रहा है। इनमें एयरपोर्ट, रेलवे, पावर ट्रांसमिशन लाइन आदि शामिल हैं। मोदी ने कनाडा में इनवेस्ट इंडिया कांफ्रेंस को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए संबोधित करते हुए यह बात कही।
सुधारों की चर्चा
उन्होंने कहा कि भारत की इकॉनमी आज मजबूत स्थिति में है और आने वाले दिनों में उसकी स्थिति और मजबूत होगी। एफडीआई नीति को बहुत उदार बनाया गया है। सॉवरेन वेल्थ और पेंशन फंड्स के लिए अनुकूल टैक्स व्यवस्था बनाई गई है। बॉन्ड मार्केट को मजबूत करने के लिए हमने कई सुधार किए हैं। कंपनी कानून के तहत कई गलतियों को अपराध की श्रेणी से बाहर कर दिया गया है।
मोदी ने कहा कि कोविड-19 महामारी की चुनौतियों से निपटने के लिए अनोखा तरीका अपनाया है। हमने गरीबों और छोटे कारोबारियों को राहत और प्रोत्साहन पैकेज दिया है। साथ ही हमने इस मौके का इस्तेमाल स्ट्रक्चरल रिफॉर्म्स को आगे बढ़ाने के लिए किया है। इन सुधारों से उत्पादन और समृद्धि बढ़ेगी। भारत ने शिक्षा, श्रम और कृषि में सुधारों पर जोर दिया है। इन सुधारों का हर भारतीय पर असर होगा। श्रम कानूनों में सुधार से इन कानूनों की संख्या में भारी कमी आई है। ये कर्मचारी और नियोक्ता दोनों के लिए अनुकूल हैं और इनसे कारोबार को आसान बनाने में मदद मिलेगी।
प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले 5 वर्षों में वर्ल्ड बैंक की ईज ऑफ डूइंग बिजनेस रेटिंग में भारत 142 से 63 पर पहुंच गया है। पीएम ने कहा कि भारत-कनाडा द्विपक्षीय संबंध हमारे साझा लोकतांत्रिक मूल्यों और कई समान हितों पर आधारित हैं, दोनों देशों के बीच व्यापार और निवेश रिश्ते हमारे बहुआयामी संबंध का अभिन्न हिस्सा हैं।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget