'देशद्रोही' बयान से मुसीबत में महबूबा

पीडीपी के तीन नेताओं का इस्तीफा


नई दिल्ली

जम्मू कश्मीर में महबूबा मुफ्ती की पार्टी पीडीपी को तगड़ा झटका लगा है। सोमवार को पीडीपी नेता टीएस बाजवा, वेद महाजन और हुसैन ए वफा ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। पार्टी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती को लिखे एक पत्र में इन नेताओं ने कहा है कि उनके कुछ कार्यों और विशेषकर उनके कुछ बयान जो कि देशभक्ति की भावनाओं को आहत करने वाले हैं और उन्हें असहज महसूस करा रहे हैं। दरअसल, महबूबा मुफ्ती ने पिछले दिनों एक बयान दिया था कि जब तक जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 के प्रावधान दोबार से लागू नहीं हो जाते हैं तक वह कोई भी झंडा नहीं थामेंगी।

अपने आवास पर संवाददाताओं से कहा था, जहां तक पीडीपी की बात है, तो अब हम अकेले नहीं हैं। अगर आप को याद हो, तो हमने नेशनल कॉन्फ्रेंस के साथ (2018) पंचायत चुनाव से पहले एक संयुक्त रुख अपनाया था कि हम उसमें भाग नहीं लेंगे। इस बार भी हम पार्टी के भीतर, अपने कार्यकर्ताओं से इस पर चर्चा करेंगे, और फिर पीपुल्स एलायंस में इस पर चर्चा करेंगे। हम वहां जो निर्णय लेंगे, वह सब पर लागू होगा। उन्होंने कहा था, जहां तक मेरी बात है, तो मुझे चुनाव में कोई दिलचस्पी नहीं है। जब तक वह संविधान हमें वापस नहीं मिल जाता जिसके तहत मैं चुनाव लड़ती थी, महबूबा मुफ्ती को चुनाव से कोई लेना देना नहीं है।

नेशनल कॉन्फ्रेंस ने महबूबा के बयान की निंदा करते हुए किनारा कर लिया है। नेशनल कॉन्फ्रेंस के सीनियर नेता देवेंद्र सिंह राणा ने कहा कि पार्टी नेताओं के लिए राष्ट्र की एकता और संप्रभुता सर्वोपरि है। हम राष्ट्र की संप्रभुता और एकता से समझौता नहीं करेंगे।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget