मध्य रेलवे ने बढ़ाई लोकल की संख्या

मुंबई

महाराष्ट्र सरकार के महिलाओं के लिए लोकल में छूट देने की खबरों के बीच मध्य रेलवे ने अपनी रोजाना की सर्विस 481 से बढ़कर 700 करने का फैसला लिया है। पश्चिम रेलवे पर पहले से 700 ट्रेनें चल रही हैं। सोमवार से मुंबई में कुल 1406 सर्विस चलेंगी। इतनी सर्विस से फिलहाल चार से साढ़े चार लाख यात्रियों को सेवा मिल रही हैं।

मध्य रेलवे ने जो 225 सेवाएं बढ़ाई हैं, इनमें से 499 मेन लाइन पर चलेंगी। इनमें से 309 ट्रेनें स्लो और 190 ट्रेनें फास्ट ट्रैक पर चलेंगी। इसके अलावा 187 ट्रेनें हार्बर और 20 ट्रेनें ट्रांस हार्बर पर चलाई जाएंगी। यात्रियों के लिहाज से अभी भी मुंबई की लोकल ट्रेनें आधी क्षमता से चल रही हैं। जब सर्विस कीरेल सिग्नल फेल करने वाले चोर धराए

मुंबई। मानखुर्द आरपीएफ ने सिग्नल यंत्रणा फेल करने वाले आरोपियों को गिरफ्तार किया है। मानखुर्द और गोवंडी के बीच अचानक सिग्नल लाल हो गया था, जिसके बाद कंट्रोल द्वारा इसकी जानकारी आरपीएफ को दी गई। मानखुर्द आरपीएफ ने मौके पर पहुंचकर जब देखा तो पता चला कि यहां पर सिग्नल को मैनेज कर करंट देने वाली मशीन चोरी हो चुकी है, जिसकी वजह से ट्रेन परिचालन में दिक्कतें हो रही थी। जिसके बाद मानखुर्द आरपीएफ ने जांच शुरू की और टीम बनाकर अलग-अलग इलाकों में भेजी गई। जांच करते हुए आरपीएफ ने चार आरोपियों को दबोच लिया। गिरफ्तार किए गए आरोपियों के नाम अख्तर शेख, राकेश नायर उर्फ गोकुल, मुफिजुल रहमान मीर उर्फ मुफिज और साबिर शेख हैं। आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद उन्हें अदालत में पेश किया गया। उनके पास से मशीन जब्त की गई। इससे पहले भी चोरों का आतंक वर्ष 2014 में देखा गया था। इस दौरान पनवेल से लेकर वडाला तक मशीनों की चोरियां होती थी। संख्या 1406 होगी तो सोशल डिस्टेंसिग की शर्तो के अनुसार प्रति लोकल 700 यात्री के हिसाब से 9.84 लाख यात्री सफर कर सकेंगे। महाराष्ट्र सरकार की अपील के बाद लोकल ट्रेनें में महिलाओं को अनुमति दी जा सकती है। हालांकि, फैसला अब रेलवे बोर्ड को लेना है। एक अधिकारी के अनुसार मुंबई में लॉकडाउन से पहले कुल यात्रियों की तुलना में लगभग एक चौथाई महिला यात्री चलती थीं। इन परिस्थितियों में यदि महिलाओं को छूट दी जाए, तो कम से कम पांच लाख यात्री और बढ़ सकते हैं। ऐसे में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ सभी यात्रियों को सेवा देने के लिए 1400 ट्रेनें पर्याप्त हैं। ज्यादा मांग बढ़ने पर पश्चिम और मध्य रेलवे पर कुल 2000 सर्विस चलाई जा सकती हैं।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget