अक्षम अधिकारियों पर भड़के गड़करी

बोले- केंचुए की तरह भी नहीं कर सकते काम

Gadkari

नई दिल्ली

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण में काम की सुस्त रफ्तार से काफी नाराज हैं। गड़करी ने एनएचएआई में देरी की कार्य संस्कृति पर नाराजगी जताते हुए कहा है कि अब समय आ गया है, जब कि गैर-निष्पादित आस्तियों को बाहर का रास्ता दिखाया जाए। उन्होंने कहा कि ऐसे लोग परियोजनाओं में देरी कर रहे हैं और अड़चनें पैदा कर रहे हैं।

मंत्री ने कहा कि एनएचएआई अक्षम अधिकारियों का स्थल बना हुआ है, जो अड़चनें पैदा कर रहे हैं। ये अधिकारी प्रत्येक मामले को समिति के पास भेज देते हैं। उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है कि ऐसे अधिकारियों को निलंबित और बर्खास्त किया जाना चाहिए और कामकाज में सुधार लाया जाना चाहिए।

गडकरी ने द्वारका में एनएचएआई के भवन के उद्घाटन के अवसर पर एक वर्चुअल बैठक को संबोधित करते हुए यह बात कही। इस भवन को बनने में नौ साल लगे हैं । उन्होंने कहा कि यहां ऐसे एनपीए हैं जो केंचुएं की तरह भी काम नहीं कर सकते हैं। यहां उन्हें रखा जाता है और पदोन्नत किया जाता है।

मंत्री ने कहा,इस तरह की विरासत को आगे बढ़ाने वाले अधिकारियों के रवैये पर मुझे शर्म आती है। एनएचएआई के भवन के निर्माण में देरी पर नाराजगी जताते हुए गड़करी ने कहा,ये अधिकारी फैसले लेने में विलंब करते हैं और जटिलताएं पैदा करते हैं। ये मुख्य महाप्रबंधक (सीजीएम), महाप्रबंधक (जीएम) स्तर के अधिकारी हैं जो बरसों से यहां जमे हैं।

त्रिपुरा को केंद्र का तोहफा!

त्रिपुरा में एकसाथ 9 नेशनल हाइवे प्रोजेक्ट्स की शुरुआत की जा रही है। मंत्री नितिन गड़करी 27 अक्टूबर 2020 को इन 262 किमी लंबी सड़क परियोजनाओं की आधारशिला रखेंगे।करीब 2,800 करोड़ रुपये की लागत से बन रही इन सड़क परियोजनाओं के जरिये त्रिपुरा का सड़क संपर्क देश-दुनिया के साथ काफी बेहतर हो जाएगा।


Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget