हर वर्ग और समाज के लिए काम करूंगा: उद्धव ठाकरे

Uddhav thackeray

मुंबई

कोरोना काल के चलते पहली बार शिवाजी पार्क के बाहर हुई शिवसेना की दशहरा रैली को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि राज्य में मराठा, धनगर सहित सभी वर्गों और समाज के उत्थान और उन्हें न्याय दिलाने के लिए काम करूंगा। आगामी 28 नवंबर को राज्य की महाविकास आघाड़ी सरकार अपने शासन के पहले साल का कार्यकाल पूरा कर रही है। इस अवसर पर सरकार द्वारा किए गए एक साल के कार्यों की रिपोर्ट राज्य की जनता के समक्ष पेश की जाएगी।

रविवार को दशहरे पर दादर स्थित वीर सावरकर हाल में शिवसेना द्वारा आयोजित पारंपरिक दशहरा रैली को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ठाकरे ने विपक्ष पर जमकर निशाना साधा। कांग्रेस और राकांपा के साथ मिलकर सरकार बनाए जाने और राज्य में मंदिरों को न खोलने के निर्णय, शिवसेना के हिंदुत्व पर बार-बार उठ रहे सवाल का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री ठाकरे ने कहा कि हमसे हिंदुत्व के मुद्दे पर सवाल पूछने वालों को मालूम होना चाहिए कि साल 1992 में अयोध्या में बाबरी मस्जिद को गिराने में शिवसैनिकों की अहम भूमिका थी, जिसे लेकर शिवसेना का सबसे पहले नाम आया था। हमारा हिंदुत्व राष्ट्रीय और सरसंघचालक के पदचिन्हों पर चलने वाला हिंदुत्व है। बात रही राज्य में मंदिरों को खोलने की तो जल्द इस पर निर्णय लिया जाएगा। मुख्यमंत्री बनने के बाद शिवसेना की पहली दशहरा रैली में सीएम ठाकरे ने आगे कहा कि पिछले कई महीनों से जारी लॉकडाउन में चरणबद्ध तरीके से ढील दी जा रही है। राज्य की आर्थिक स्थिति बहुत खराब हो गई है, जिसे पटरी पर लाने की कोशिश की जा रही है। इसके साथ राज्य सरकार का 38 हजार करोड़ रुपए केंद्र सरकार के पास बकाया है, जिसे केंद्र सरकार को देना चाहिए, ताकि हम प्रदेश को आगे ले जा सकें। सरकार द्वारा आरे से कांजुरमार्ग स्थानांतरित किए गए मेट्रो कारशेड के निर्णय पर ठाकरे ने कहा कि आरे से मेट्रो कारशेड हटाकर हमने 808 एकड़ जंगल को बचाया है। एक रुपए खर्च किए बिना कांजुरमार्ग में कारशेड की जमीन दी गई है। मुख्यमंत्री ने बिना नाम लिए अभिनेत्री कंगना रनौत पर हमला बोलते हुए कहा कि कुछ लोगों द्वारा मुंबई और राज्य की पुलिस को लगातार बदनाम करने की कोशिश की गई। मुंबई को पाक अधिकृत बोला जा रहा है। यह देश और राज्य के लिए शर्म की बात है। जिस तरह राज्य की 11 करोड़ जनता हमारा परिवार है, उसी प्रकार मुंबई और राज्य की पुलिसकर्मी भी हमारे परिवार का हिस्सा है। इनकी झूठी बदनामी करना सही नहीं है। इस दौरान मुख्यमंत्री ने अपने भाषण में विपक्ष पर जमकर निशाना साधते हुए राज्य और देश से कई जुड़े मुद्दों का जिक्र किया, जिसमें अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत प्रकरण, अभिनेत्री कंगना रनौत, कोरोना महामारी के साथ अन्य मुद्दे भी शामिल हैं।

ठाकरे के निशाने पर राणे परिवार

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने उन पर बार-बार निशाना साधने वाले पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे और उनके दोनों बेटों का बिना नाम लिए कड़े शब्दों में जबाब देते हुए कहा कि मेढ़क की भांति बाप और बेटे सरकार को निशाना बना रहे हैं। कुछ लोग ऐसे मेंढक होते हैं, जिन्हें रोकने के लिए मवेशियों का इंजेक्शन लगाना पड़ता है, इंसानों का नहीं। इस पार्टी से उस पार्टी में जाते रहते हैं, जब बाघ को देखते है तो कहीं जाकर छुप जाते हैं और बाद में अपने पिता के पास जाकर बाघ की शिकायत करते हैं। जिसके बाद बाप भी शोर मचाना शुरू कर देता है।

उद्धव 11 करोड़ जनता के मुख्यमंत्री

शिवसेना की पारंपरिक दशहरा रैली को संबोधित करते हुए शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि अगर यह कोरोना नहीं होता, तो ऐतिहासिक दशहरा रैली आयोजित की जाती। दशहरा असत्य पर सत्य और बुराई पर अच्छाई की जीत के साथ मनाया जा रहा है। राउत ने कहा कि हमने पिछले वर्ष की दशहरा रैली में भविष्यवाणी की थी कि शिवसेना पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री बनेंगे। वे महाराष्ट्र की 11 करोड़ जनता के मुख्यमंत्री बन गए हैं। उन्होंने कहा कि हमें किसी से भी हिंदुत्व का पाठ सीखने की जरूरत नहीं है। मुख्यमंत्री ने जो कहा उसके पीछे वीर सावरकर प्रेरणा हैं। सरकार के एक साल पूरा होने पर मुख्यमंत्री लोगों को बताएंगे कि उन्होंने जनता के लिए क्या काम किया है। वीर सावरकर के हिंदुत्व, और बालासाहेब के विचारों को लेकर शिवसेना आगे बढ़ रही है। पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस कोरोना से संक्रमित हैं। मैं उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget