एबॅट ने भारत लाया ड्यूफालेक टीएम बियर्स


बंगलुरु

एबॅट ने आज भारत में फ्रूट-फ्लेवर्ड गमी बियर्स से युक्त अपना नया प्रोडक्ट ड्यूफालेक्ष बियर्स लांच करने की घोषणा की है। यह बच्चों की पाचन शक्ति को बढ़ाता है और उनको ज्यादा सेहतमंद जिंदगी जीने में मदद करता है। स्ट्रॉबेरी के स्वाद में लांच किया गया ड्यूफालेक्ष बियर्स एक फूड सप्लीमेंट है, जो भारतीय फूड सेफ्टी एंड स्टैण्डर्ड्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया के मापदंडों के बिल्कुल अनुकूल है। यह एक प्रमाणित प्री-बायोटिक के फायदे उपलब्ध कराता है और पाचन तंत्र में अच्छे जीवाणुओं के विकास को प्रोत्साहित करते हुए, खराब जीवाणुओं की संख्या कम करता है।(4).(5) ये गमी बियर्स बच्चों के लिए लेने में बिल्कुल आसान है और उनकी आंतों के लिए हर तरह से फायदेमंद है।

बच्चों की आंतों में अच्छे जीवाणुओं के स्तर में विकास के साथ, ड्यूफालेक्ष बियर्स में लैक्टुलोज भी होता है। यह दूध से प्राप्त होने वाला एक प्री-बायोटिक है जोकि गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल हेल्थ को बढ़ावा देता है। बचपन में कब्ज की शिकायत 0.7 से लेकर 29.6 फीसदी बच्चों में होती है। यह सबसे ज्यादा तब होता है, जब बच्चे की उम्र दो से तीन साल के बीच होती है और उसको टॉयलेट जाना सिखाया जा रहा होता है।(6) एक स्वस्थ पाचन तंत्र बच्चे के अच्छे पोषण के लिए बहुत जरूरी होता है। इससे भोजन प्रभावी ढंग से छोटे-छोटे टुकड़ों में विभाजित हो जाता है और पोषक तत्वों का अच्छे से अवशोषण सुनिश्चित हो पाता है। इस प्रक्रिया से बच्चों के विकास में मदद मिलती है।(7) गौरतलब है कि मनुष्य के शरीर का 70 फीसदी इम्यून सिस्टम आंतों की स्थिति पर ही निर्भर करता है, इसलिए एक स्वस्थ पाचन तंत्र बेहतर इम्युनिटी और स्वास्थ्य दोनों के लिए जरूरी है।(8) स्वादिष्ट, चबाने योग्य, लैक्टुलोज आधारित यह उत्पाद बच्चों के मल को मुलायम कर बचपन में कब्ज के लक्षणों को कम करता है और मोशन को नियमित करता है ।

एबॅट इंडिया की मेडिकल डायरेक्टर डॉ.दास ने कहा,बचपन में कब्ज की शिकायत के कई कारण हो सकते हैं। इनमें सुबह के समय हड़बड़ी और जल्दी में टॉयलेट का रूटीन, ठीक से टॉयलेट करना न सिखाया जाना और खराब आहार शामिल हैं। हालांकि इस समस्या का इलाज हो सकता है, लेकिन शोध यह बताता है कि केवल 30 फीसदी अभिभावक ही समय पर डॉक्टर से परामर्श करते हैं।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget