चीन को महंगी पड़ रही भारत से दुश्मनी

स्मार्टफोन बाजार में शाओमी से छिना नंबर-1 का ताज 

नई दिल्ली 

पहले कोरोना वायरस और उसके बाद सीमा (एलएसी) पर भारतीय सैनिकों के साथ चीन ने जो बर्बरता दिखाई, उसकी बहुत बड़ी कीमत उसे चुकानी पड़ रही है। (हैश) बायकाट चाइना का असर अब साफ नजर आ रहा है। भारतीय स्मार्टफोन बाजार पर चाइनीज ब्रैंड की पकड़ कमजोर हो रही है। शाओमी को पछाड़ कर कोरियन स्मार्टफोन मेकर सैमसंग अब भारत में नंबर बन गया है। 

सैमसंग स्मार्टफोन बना मार्केट लीडर 

काउंटरपाइंट की लेटेस्ट रिपोर्ट के मुताबिक अब सैमसंग स्मार्टफोन सेगमेंट में लीडर बन गया है। 2017 की दूसरी छमाही में उससे यह ताज शाओमी ने छिन लिया था। 2018 के बाद से सैमसंग का मार्केट शेयर अभी सबसे ज्यादा है। 

मार्च के अंत में लॉकडाउन की घोषणा की गई थी। चीन को उसके लिए जिम्मेदार ठहराया जाने लगा। जून के मध्य में गलवान घाटी में चीनी सैनिकों ने भारतीय सैनिकों पर हमला कर दिया, जिसमें दर्जनों सैनिक शहीद हो गए। उसके बाद चीन के खिलाफ गुस्सा भड़क गया और पूरे देश में एंटी चाइना सेंटिमेंट लगातार मजबूत हो रहा है। सैमसंग समेत दूसरे ब्रैंड जो चाइनीज नहीं हैं, उन्हें इसका काफी फायदा मिल रहा है। 

ग्लोबल मार्केट में हुआवे को मात 

ग्लोबल मार्केट में भी सैमसंग ने चाइनीज ब्रैंड हुआवे को मात दिया है। सैमसंग का ग्लोबल मार्केट शेयर 22 पर्सेंट पर पहुंच गया। अप्रैल 2020 तक सैमसंग का मार्केट शेयर 20 फीसदी थी। पिछले छह महीने में यह बदलाव आया है। बात अगर हुआवे की करें तो अगस्त 2020 में उसका मार्केट शेयर घटकर 16 फीसदी पर पहुंच गया। अप्रैल 2020 में उसका मार्केट शेयर 21 फीसदी था। 


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget