त्योहार के सीजन में महंगाई की मार!

सरकार पेट्रोल-डीजल पर छह रुपये तक बढ़ा सकती है एक्साइज ड्यूटी

Petrol

नई दिल्ली

देशभर में कोरोना वायरस के कारण लगे लॉकडाउन में लोगों के काम धंधे और नौकरियां नहीं रही। ऐसे में लोगों को जीवन यापन करने में मुश्किल हो रही है। वहीं दूसरी तरफ केंद्र सरकार ने त्योहार के सीजन में लोगों की जेब ढिली करने की सोच रही है। मीडिया रिपोर्ट्स ने जानकारी दी है कि केंद्र सरकार एक बार फिर से पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी लगाने वाली है। देश में लगभग हर चीज महंगी होती जा रही है। ऐसे में आम जनता पर महंगाई की डबल मार पड़ने वाली है। केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा लगातार टैक्स बढ़ाने जाने से क्रूड के सस्ते होने का फायदा ग्राहकों को नहीं मिल पा रहा है, बल्कि उन्हें पेट्रोल और डीजल के लिए ज्यादा खर्च करना पड़ रहा है। एक अंग्रेजी अखबार में छपे लेख के मुताबिक, केंद्र सरकार जनता पर तीन रुपये से लेकर छह रुपये तक एक्साइज ड्यूटी लगा सकती है। इसलिए अंतरराष्ट्रीय बाजार में जब तेल की कीमत सस्ता हो जाता है तब आम लोगों को इसका फायदा नहीं मिल पाता है। क्योंकि केंद्र सरकार और राज्य सरकारें मिलकर पहले ही एक्साइज ड्यूटी लगा देते है। जिसके कारण आम जनता को लाभ नहीं मिल पाता है। 2014 में जबसे भाजपा केंद्र सरकार में आई है तब से अभी तक पेट्रोल पर टैक्स बढ़कर 32.98 प्रति लीटर और डीजल पर टैक्स 31.83 रुपये प्रति लीटर हो चुका है। 2014 में सरकार बनते ही मई के महीने में पेट्रोल पर 10 रुपये और डीजल पर 13 रुपये प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी बढ़ाने काम किया गया था। 2014 मई से पहले पेट्रोल-डीजल पर 9.48 रुपये और 3.56 रुपये प्रति लीटर था।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget