बिजली गुल, मुंबई में अफरातफरी

थम गए लोकल ट्रेनों के पहिए | मुख्यमंत्री ने दिए जांच के आदेश


मुंबई

देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में सोमवार सुबह तकरीबन सवा दस बजे अचानक बिजली गुल हो जाने से हाहाकार मच गया। लाइफ लाइन लोकल ट्रेन के पहिए थम गए और बहुमंजिला इमारतों की लिफ्ट थम गई। तकरीबन ढाई घंटे तक अफरा तफरी के माहौल के बाद कुछ इलाकों में बिजली आ गई, जबकि साढ़े तीन घंटे के बाद अधिकांश इलाकों में बिजली आपूर्ति बहाल कर दी गई। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बिजली आपूर्ति खंडित होने के मामले की संपूर्ण जांच के आदेश देते हुए कहा कि आगे ख्याल रखा जाए कि इस तरह घटना की पुनरावृत्ति नहीं हो पाए।

वर्षा बंगले पर आपात बैठक

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के सरकारी आवास वर्षा बंगले पर आपातकाल बैठक बुलाई। बैठक में राज्य के ऊर्जा मंत्री नितिन राउत के साथ चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने पावर कट मामले की घटना के जांच के आदेश दिए और कहा कि भविष्य में इस तरह की घटनाएं नहीं होनी चाहिए। उन्होंने मनपा आयुक्त इकबाल सिंह चहल से मनपा के अस्पतालों में बिजली की आपूर्ति को निर्बाध रखने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था करने को कहा। महाराष्ट्र के ऊर्जा मंत्री नितिन राउत ने एक वीडियो बयान जारी कर बताया कि महाराष्ट्र राज्य बिजली ट्रांसमिशन कंपनी के 400 किलोवाट के कालवा-पाडगा केंद्र में मरम्मत के काम के दौरान दो नंबर सर्किट में तकनीकी गड़बड़ी आ गई। उन्होंने कहा कि मुंबई और ठाणे का एक बड़ा हिस्सा इससे प्रभावित हुआ है।

मुंबई के निगम आयुक्त आई एस चहल ने अस्पताल के अधिकारियों को जनरेटर का इंतजाम रखने के लिए कहा है कि ताकि अस्पतालों और विशेषकर आईसीयू में बिजली न जाए।

 बिजली गुल, मुंबई में अफरातफरी

से महानगर की जीवन रेखा मानी जाने वाली लोकल ट्रेनों का संचालन भी ढाई घंटे रुक गया, जिससे यात्रियों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा। ट्रेनों में पंखे और बत्ती भी बंद हो जाने के कारण कई यात्रियों ने ट्रेनों से उतरकर पटरी के किनारे चलते हुए अपने गंतव्य तक पहुंचने का फैसला किया। अधिकारियों ने बताया कि सोमवार सुबह देश की वित्तीय राजधानी मुंबई में पावर ग्रिड फेल होने से पूर्वाह्न 10 बजकर पांच मिनट के बाद से उपनगरीय ट्रेन संवाएं और लंबी दूरी की ट्रेनें पटरियों पर रुक गईं। सीआर ने एक विज्ञप्ति में कहा कि मध्य रेलवे की सेवाएं सबसे पहले हार्बर लाइन पर पूर्वाह्न 10.55 बजे फिर से शुरू हुईं। विज्ञप्ति में कहा गया है कि इसकी मुख्य लाइन-छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस से कसारा (पड़ोसी ठाणे में) और खोपोली (रायगढ़ में) दोपहर 12.26 बजे फिर से शुरू हुई। चर्चगेट और दहाणु (पालघर) स्टेशनों के बीच लोकल ट्रेनों का संचालन करने वाले पश्चिम रेलवे के अनुसार इसकी सेवाएं दोपहर 12.20 बजे बहाल हुईं। बिजली आपूर्ति बाधित होने के कारण बाहर के स्थानों के लिए कई विशेष ट्रेन सेवाएं भी प्रभावित हुईं। इसके कारण रेलवे अधिकारियों को उनके रवाना होने का समय फिर से निर्धारित करना पड़ा।


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget