दलित पंचायत प्रधान को कुर्सी पर नहीं दिया बैठने

कडलूर

तमिलनाडु के कडलूर जिले में एक दलित महिला पंचायत प्रधान को बैठकों में उप प्रधान ने कथित तौर पर कुर्सी पर नहीं बैठने दिया, ना ही राष्ट्रध्वज फहराने दिया। इस भेदभावपूर्ण व्यवहार की राजनीतक दलों ने निंदा की है। पुलिस, उप प्रधान मोहन राज की तलाश कर रही है, जबकि पंचायत सचिव सिंदुजा को निलंबित कर दिया गया है। इस घटना को लेकर सोशल मीडिया पर भी रोष छा गया। दरअसल, सोशल मीडिया पर वायरस एक तस्वीर में मेल बुवनगिरि पंचायत यूनियन के तहत थेरकु थिट्टाई गांव की प्रधान एस राजेश्वरी जमीन पर बैठी दिखी, जबकि अन्य लोग कुर्सी पर बैठे हुए देखे जा सकते हैं। इस घटना के बारे में पता चलने पर अधिकारी हरकत में आ गये। जिलाधिकारी चंद्र शेखर सखामुरी और पुलिस अधीक्षक एम श्री अभिनव ने गांव का दौरा किया और शनिवार को मामले की जांच-पड़ताल की। अभिनव ने संवाददाताओं से कहा, 'हम उनका (राजेश्वरी का) बयान लेंगे और उपयुक्त कार्रवाई की जाएगी। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि उनकी जान को कोई खतरा नहीं है। 


Labels:

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget