डिप्रेशन ही नहीं याददाश्त को भी रखे दुरुस्त

vitamin b12 foods

क्या आप हर समय सुस्ती या थकान मसहूस करते हैं? क्या आपको किसी भी काम में मन लगाने में मुश्किल पेश आती है? अगर हां तो मुमकिन है आप विटामिन-डी की कमी से जूझ रहे हों। डिटॉक्स ऑफ साउथ फ्लोरिडा से शोधकर्ताओं ने अपने हालिया अध्ययन के आधार पर यह आशंका जताई है। 


 याददाश्त दुरुस्त रखने के लिए जरूरी- 
-विटामिन-बी12 तंत्रिका तंत्र में मौजूद कोशिकाओं में क्षरण की समस्या को भी दूर रखता है। इससे मस्तिष्क में सिकुड़न की शिकायत नहीं सताती, जो आगे चलकर अल्जाइमर्स, डिमेंशिया और पाङ्क्षर्कसंस डिजीज जैसी जानलेवा बीमारियों का सबब बन सकती है। 2008 में १अमेरिकन अकेडेमी ऑफ न्यूरोलॉजी में प्रकाशित एक अध्ययन में उन लोगों के मस्तिष्क में सबसे ज्यादा सिकुड़न दर्ज की गई थी, जो विटामिन-बी12 की कमी का सामना कर रहे थे। ये लोग याददाश्त, एकाग्रता और तार्किक क्षमता में कमी आने की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती हुए थे। 

 डिप्रेशन दूर रखने में भी कारगर- 
-अमेरिका में डिप्रेशन के शिकार 199 मरीजों पर हाल ही में हुए एक अध्ययन में विटामिन-बी12 की कमी और मनोवैज्ञानिक रोगों के खतरे के बीच सीधा संबंध पाया गया था। पहले समूह को डिप्रेशन रोधी दवाओं के साथ विटामिन-बी12 की गोली खिलाई। वहीं, दूसरे समूह के मरीजों को सिर्फ डिप्रेशन रोधी दवाओं का सेवन करवाया। एक महीने बाद पहले समूह के सभी प्रतिभागियों ने उदासी, बेचैनी, नाउम्मीदी और खुदकुशी के ख्याल में कमी आने की बात कही, जबकि दूसरे समूह में यह आंकड़ा 69 प्रतिशत ही था। 

गर्भावस्था में सेवन फायदेमंद- 
गर्भावस्था में विटामिन-बी12 का सेवन फॉलिक एसिड जितना ही जरूरी है। इससे गर्भस्थ शिशु में पक्षाघात का खतरा घटता है। साथ ही अविकसित खोपड़ी या मस्तिष्क वाले बच्चे के जन्म की आशंका में भी कमी आती है। 
त्वचा और बालों की चमक बढ़ती है-
विटामिन-बी12 कोशिकाओं और ऊतकों में ऑक्सीजन का प्रवाह सुनिश्चित करने के लिए अहम है, लिहाजा इसे त्वचा, बालों व नाखून की चमक बढ़ाने के साथ ही उन्हें मजबूत बनाने के लिए भी जरूरी करार दिया गया है। 

Post a comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget